ये 10 तरह के किस हेल्थ के लिए भी फायदेमंद हैं | POPxo Hindi | POPxo
Home  >;  Lifestyle  >;  Relationships
हेल्थ के लिए भी फायदेमंद हैं ये 10 तरह के 'किस' यानि चुंबन

हेल्थ के लिए भी फायदेमंद हैं ये 10 तरह के 'किस' यानि चुंबन

किस, नाम में ही इतना जादू आैर खुमार है कि आंखों के सामने अपने सबसे रूमानी पल तैर जाते हैं। आपके जीवन का हर किस खास होता है, कुछ दोस्तोें के लिए तो कुछ रोमांस के लिए। किस का मतलब केवल चेहरे पर ही चुंबन नहीं है बल्कि शरीर के कई अन्य हिस्सों पर भी किस किए जाते हैं। कहा जाता है कि किस उस समय की भावना या पैशन है, जिस समय आप किस करते हैं। आप अपने दोस्त को जिस तरह से चूमते हैं, उससे बिल्कुल अलग तरह से अपने पार्टनर को किस करते हैं। यही वजह है कि किस कई तरह के होते हैं आैर इनके अर्थ भी अलग हैं।


हैंड किस 


यह तब होता है जब आप सामने वाले के हाथ को प्यार से पकड़ते हैं आैर उसकी हथेली के पीछे वाले हिस्से को चूम लेते हैं। यह किसी को अपना प्यार दिखाने का सौम्य आैर सभ्य तरीका है।


फोरहैड किस


Forehead Kiss


माथे पर किस करने का मतलब सामने वाले को पसंद करने से है। इस किस को दोस्ती या रोमांस के शुरुआती दौर का किस माना जाता है। भाई- बहन या बच्चे को भी माथे पर किस किया जाता है। यह किस सामने वाले को नरम अहसास देने के साथ यह भी महसूस कराता है कि आप उसके लिए हमेशा मौजूद हैं। 


फ्रेंच किस


फ्रेंच किस को सबसे ज्यादा पैशनेट, इरोटिक आैर सेक्सी माना जाता है। इसमें जीभ का बड़ा योगदान रहता है। फ्रेंच किस करना सबके बस की बात नहीं है। इसके लिए पैशन आैर रोमांस का होना जरूरी है।


सिंगल लिप किस


इसे सैंडविच किस भी बोला जा सकता है क्योंकि इस किस के दौरान आपके आैर सामने वाले के होंठ सैंडविच स्टाइल में रहते हैं। जब दो लोग एक- दूसरे में खोए रहते हैं आैर सामने वाले की भावनाओं में बह जाते हैं तो यह किस किया जाता है। इस किस को सेक्स के दौरान फोरप्ले का भी हिस्सा माना जाता है।


इयरलोब किस


दो प्यार करने वालों के बीच इसे सबसे ज्यादा रोमांटिक आैर इंटिमेट किस माना जाता है। कान के निचले हिस्से को बहुत ही दुलार के साथ हौले से किस किया जाता है। कहते हैं कि इयरलोब किस सेक्स के लिए पार्टनर को उत्तेजित भी करता है।


एस्किमो किस


Eskimo Kiss


एक कोल्ड क्रीम के विज्ञापन में मां आैर बच्चे को एस्किमो किस करते हुए देखा जाता है। इस किस में दो लोग अपनी- अपनी नाक साथ में रगड़ते हैं। यह लगाव आैर प्यार को दर्शाता है। इस किस को अपना यह नाम तब मिला, जब आर्कटिक की खोज में वहां पहुंचे लोगों ने प्यार को जताने के लिए यह करना शुरू किया। दरअसल वहां इतनी ठण्ड होती थी कि किस करने पर होंठों पर जमी बर्फ परेशानी पैदा करती थी। तब लोगों ने इस तरह से नाक रगड़कर किस करना शुरू कर दिया।


बटरफ्लाई किस


जब दो लोग एक- दूसरे के इतने करीब होते हैं कि उनकी पलकें आपस में टकराएं तो उसे बटरफ्लाई किस कहा जाता है। प्यार में पागलपन की हद तक डूबे लोगों में यह आम होता है। इस किस के दौरान जो फड़फड़ाने सा अहसास होता है, उसी को ध्यान में रखते हुए इसका नाम बटरफ्लाई किस रखा गया।


चीक किस


गाल पर छोटा सा चुंबन किसी को भी किया जा सकता है। उस समय हाथ कंधे पर होता है या आप सामने वाले को आधी तरह से गले लगाए होते हैं। कुछ लोगों का यह हैलो या बाय कहने का भी तरीका होता है।


एयर किस


ग्लैमर की दुनिया में इस किस को करने का चलन है। सामने वाले के गाल के किनारे जाकर मुआ करने को एयर किस कहते हैं। कई बार यह दोनों गालों पर किया जाता है। सेलिब्रिाटीज तो एयर किस करते ही हैं, कई दफा परिवार के सदस्यों आैर दोस्तों के बीच भी इस किस का आदान- प्रदान होता है। यह पूरी तरह से केवल दोस्ताना किस है।


एंजेल किस


यह किस सामने वाले की आईलिड पर किया जाता है। किस करने के इस तरीके को बहुत प्यारा माना जाता है। एक मां अपने बच्चे या पति अपनी पत्नी को इस तरह से किस करके उसे अपने प्यार आैर दुलार का अहसास दिलाता है।


किस करने के हेल्थ बेनिफिट्स


किसिंग एक ऐसा अनोखा इंसानी जज्बा है, जिसके जरिए एक से दूसरे के अंदर कीटाणुओं का भी प्रवेश होता है, जो दोनों के शरीर में इम्युनिटी पैदा करते हैं। यह न केवल आपको अच्छा आैर खुश महसूस कराता है बल्कि आपके तनाव को छूमंतर करके आपके खून में एपिनेफ्रिन को रिलीज करता है, जो इसे तेजी से पंप करके एलडीएल कोलेस्टॉल को कम करने का काम करता है। इस तरह से किसिंग के जरिए कई स्वास्थ्य संबंधी फायदे आपको मिलते हैं।


  • किस करने से आपके ब्लड वेसल्स (रक्त वाहिकाएं) फैलती हैं, जो आपके ब्लड प्रेशर को कम करने में मददगार साबित होता है।
  • रक्त वाहिकाओं के फैलने के प्रभाव से दर्द से भी मुक्ति मिलती है, खासकर सिरदर्द आैर पीरियड्स के दर्द से।
  • किसिंग से खून में एलजीई एंटीबॉडीज का स्तर कम हो जाता है। इससे हिस्टामाइन को स्राव होता है, जो छींकने आैर आंखों में पानी आने का कारण होता है। किस करके आप इस तरह की एलर्जी से भी बच जाते हैं।
  • पूरे दिन की थकान उतारनी हो तो किस कर लें। दरअसल किस करने के दौरान शरीर में कार्टिजोल का स्तर कम हो जाता है, जिससे शरीर की थकान आैर तनाव दोनों दूर हो जाते हैं। व्यक्ति में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।
  • जिस समय आप किस कर रहे होते हैं, आपके मुंह में सैलिवा का निर्माण बढ़ जाता है आैर यह आपके मुंह के प्लाक को धो देता है, जो कैविटीज का कारण बन सकता है। इस तरह से देखा जाएतो कैविटी बढ़ाने वाले बैक्टीरिया भी चुंबन के जरिए आपके मुंह में आ सकते हैं, खासकर तब जब आप जिसे किस कर रहे हैं, उसका मुंह साफ नहीं रहता। यह भी देखा गया है कि कैविटी वाले बैक्टीरिया मां के चुंबन के जरिए भी अपने बच्चे तक पहुंच जाते हैं।
  • किसिंग के जरिए आपका दिमाग अच्छा महसूस कराने वाले केमिकल्स जैसे सेरोटोनिन, डोपामाइन आैर ऑक्सिटोसिन रिलीज करता है। यह सिर्फ आपकी खुशी के लिए जरूरी नहीं है, यह आपके रिश्ते को मजबूत करने में भी मददगार है।
  • किसिंग किसी भी लिहाज से आपके वर्कआउट सेशन का विकल्प नहीं है लेकिन यदि आप उद्वेग से किसी को किस करते हैं तो यह 10-15 कैलोरी जरूर बर्न करता है।
  • कई रिसर्च से पता चला है कि चुंबन के दौरान आपके चेहरे की 3 से भी अधिक मसल्स एक्टिव हो जाते हैं, जो फेशियल एक्सरसाइज का काम करते हैं। चेहरे में रक्त का संचार भी तेजी से होता है। बोलने या हंसने के दौरान ऐसा नहीं होता तो किसिंग की वजह से आपके चेहरे का आकार भी सही रहता है।
  • किस आपके अंदर के आत्म विश्वास को बढ़ाने में भी सहायक है। दरअसल यह खुश रहने के अहसास से जुड़ा है। यदि आप खुश रहते हैं तो आपका आत्म विश्वास स्वयं बढ़ा रहता है आैर आप जीवन के हर क्षेत्र में सफल होते रहते हैं।

इन्हें भी देखें- 


ये 20 ख्याल आते हैं हर लड़की को अपने पहले किस के बाद


ज़ोडिएक साइन कम्पैटिबिलिटी – जानें कि किस राशि के लड़के कैसे करते हैं प्यार का इज़हार


अक्सर क्यों अधूरा रह जाता है पहला प्यार- 9 Reasons

Subscribe to POPxoTV

 


 


- स्पर्धा


 

Published on Jan 24, 2018
Like button
2 Likes
Save Button Save
Share Button
Share
Read More