ब्यूटी कॉन्टेस्ट जीतने वाली पहली ट्रांसजेंडर बनीं नाज जोशी | POPxo Hindi | POPxo
Home  >  Lifestyle  >  Entertainment  >  Celebrity gossip
ब्यूटी कॉन्टेस्ट जीतने वाली पहली ट्रांससेक्सुअल बनीं नाज जोशी

ब्यूटी कॉन्टेस्ट जीतने वाली पहली ट्रांससेक्सुअल बनीं नाज जोशी

कुछ लोग अपने अंदर की हर छोटी- बड़ी कमी के लिए उदास रहते हैं तो वहीं कुछ लोग उन कमियों को पीछे छोड़कर अपने लिए एक नई राह बनाते हैं। कुछ ऐसी ही कहानी है नाज जोशी की। ट्रांसजेंडर नाज जोशी को अपनी अभी तक की ज़िंदगी में बहुत कुछ सुनना और सहना पड़ा होगा पर उस सबका असर उन्होंने अपने ‘कल’ पर कभी नहीं पड़ने दिया। हर मुश्किल परिस्थिति से जूझते हुए अब उनके सिर पर ब्यूटी क्वीन का ताज सजा हुआ है। यह उन्हीं की मेहनत और आत्मविश्वास का नतीजा है कि वे दुबई में आयोजित हुए ‘मिस वर्ल्ड डाइवर्सिटी 2018’ का ताज भारत ला सकी हैं। ‘मिस वर्ल्ड डाइवर्सिटी 2018’ का टाइटल जीतने वाली वे पहली भारतीय ट्रांससेक्सुअल हैं।


ट्रांसजेंडर के लिए चाहती हैं सामान्य ज़िंदगी


‘मिस वर्ल्ड डाइवर्सिटी 2018’ कॉन्टेस्ट की विनर नाज जोशी इस टाइटल को जीतकर लैंगिक असमानता को खत्म करना चाहती हैं। इस टाइटल को जीतने के लिए नाज ने अलग- अलग देशों की 22 कंटेस्टेंट्स को हराया है। ‘मिस वर्ल्ड डाइवर्सिटी’ दुनिया का दूसरा ऐसा ब्यूटी पेजेंट है, जिसमें महिलाओं के साथ ट्रांसजेंडर भी हिस्सा ले सकते हैं। बहुत लोगों की प्रेरणा बन चुकीं नाज को उम्मीद है कि इस जीत से देश में बदलाव की लहर उठेगी और लोग ट्रांसजेंडर्स को भी सामान्य ज़िंदगी जीने देंगे।



बॉलीवुड में बनानी है जगह


ब्यूटी पेजेंट जीतने वाली नाज जोशी बॉलीवुड में भी अपनी किस्मत का सिक्का चलाना चाहती हैं। वे एक ऐसा एनजीओ भी शुरू करना चाहती हैं, जिससे ज़रूरतमंदों की पढ़ाई में मदद हो सके और उन्हें कुछ रोजगार भी मिल सके। उनका मानना है कि लोगों को यूं ही पैसे या खाना देने के बजाय उनके लिए रोजगार के अवसर बनाने चाहिए। वे शिक्षा के महत्व को भी बखूबी समझती हैं। बॉलीवुड में काम कर नाज जोशी पैसे कमाना चाहती हैं, जिससे कि वे दूसरों की मदद कर सकें। साल भर के अंदर शादी कर वे ज़िंदगी के नए पड़ाव की शुरुआत भी करना चाहती हैं।


Naaz Joshi winner


दिल से सुंदर होना ज़रूरी


नाज जोशी के लिए सुंदरता सिर्फ वही नहीं है, जो बाहर से नज़र आती है, बल्कि उनका मानना है कि सुंदरता अंदर से झलकनी चाहिए। बाहरी सुंदरता को तो बोटॉक्स व कॉस्मेटिक सर्जरी से जवां रखा जा सकता है पर अंदरूनी सुंदरता लोगों व समाज की मदद करने से बढ़ती है। नाज दूसरों की मदद करते हुए अपनी ज़िंदगी जीना चाहती हैं। इसके साथ ही नाज इंडियन पेरेंट्स के माइंडसेट को भी बदलना चाहती हैं। उनका कहना है कि जिन लोगों को लगता है कि मॉडलिंग या ग्लैमर इंडस्ट्री में सब खराब ही है, दरअसल वे गलत हैं। हर जगह कुछ अच्छाई ज़रूर होती है।


Naaz Joshi


रोल मॉडल हैं नाज


अपनी उपलब्धियों से नाज जोशी ने साबित कर दिया है कि सफलता किसी चीज़ की मोहताज नहीं होती है। इस कॉन्टेस्ट को जीतने के बाद वे सिर्फ किसी विशेष कम्युनिटी की ही नहीं, बल्कि हर किसी की रोल मॉडल बन चुकी हैं। उनके फैन्स उन्हें अपनी प्रेरणा मानते हैं। इस बाबत नाज का कहना है, ‘मैं तमाम मुश्किलों का सामना करते हुए इस मंजिल तक पहुंच पाई हूं। अपना रास्ता मैंने खुद ढूंढा है और मैं चाहती हूं कि कोई भी व्यक्ति कभी अपनी कमजोरी के आगे न झुके।’


Naaz Joshi 1


ब्यूटी कॉन्टेस्ट जीतने के लिए नाज जोशी को बधाई!


ये भी पढ़ें :


मिस इंडिया 2018 कॉन्टेस्ट की मेंटर थीं बॉलीवुड की ये 4 एक्ट्रेस


सौंदर्य - आंखों के नीचे काले घेरे हटाने के आसान घरेलू उपाय


सौंदर्य : गर्मियों में निखार के लिए अपनाएं ये 7 ब्यूटी टिप्स


सौंदर्य व स्वास्थ्य के लिए जानें कैस्टर ऑयल के फायदे

Published on Jul 17, 2018
Like button
2 Likes
Save Button Save
Share Button
Share
Read More