आखिर दिल्ली के बुराड़ी में हुई 11 मौतों के पीछे का क्या है सच? POPxo Hindi | POPxo
Home  >;  Lifestyle
बुराड़ी केस: पुलिस जांच में खुले कुछ बड़े राज़, क्या वाकई इस कांड के पीछे है गहन अंधविश्वास ?

बुराड़ी केस: पुलिस जांच में खुले कुछ बड़े राज़, क्या वाकई इस कांड के पीछे है गहन अंधविश्वास ?

उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 लोगों की सामूहिक मौत के मामले में पुलिस को काफी अहम संकेत मिले हैं। इन संकेतों के अनुसार भाटिया परिवार में बरगद की पूजा- तपस्या चल रही थी। पुलिस का कहना है कि घर के मंदिर में मिले रजिस्टर में ‘मोक्ष’ और ‘बरगद पूजा- तपस्या’ की बात लिखी गई है। इस मामले की जांच से जुड़े एक पुलिसकर्मी का कहना है कि इस रजिस्टर में लिखा था कि अगर कोई कुछ खास विधियों का पालन किया जाए तो ईश्वर खुश होता है और सारी समस्याएं सुलझ जाती हैं।


Buradi Bhatia Family


क्या इसके पीछे है किसी आत्मा का साया


पुलिस बेटे ललित को इस पूरे का मास्टरमाइंड समझ रही है। बताया जाता है कि ललित अपने सपने में अपने पिता गोपालदास से बात करता था, जिनकी मौत 10 साल पहले हो चुकी थी। वह कहता था कि वह अपने पिता के कहे अनुसार सारी बातें रजिस्टर में लिखता है। इस रजिस्टर में यह भी लिखा है - मैं कल या परसों आऊंगा, नहीं तो बाद में आऊंगा। ललित की चिंता मत करो, मैं जब आता हूं, ये थोड़ा परेशान हो जाता है​।


पूजा का विधि- विधान


Bargad Tree


घर पर मिले रजिस्टर में सिर्फ बरगद की पूजा के बारे में ही 37 पेज में लिखा गया है। इसमें लिखा है कि सिर पर काला कुत्ता हो। सात दिन लगातार पूजा करनी है, इस बीच घर में कोई आ जाए तो पूजा अगले दिन नए सिरे से करनी है। पूजा के लिए गुरुवार और रविवार का दिन चुना गया है। क्रिया रात 12 से 1 बजे के बीच करनी है। इससे पहले हवन करना है। इस रजिस्टर में पूजा विधि के लिए 'स्टूल पर चढ़ने, चेहरे को ढकने, मुंह पर टेप लगाने और गले पर चुन्नी लपेटने के बाद नीचे उतरकर दूसरों की मदद करने तक की बात लिखी है। इसके अलावा पूजा से पहले जाप करने तक की बात कही गई है। यह भी लिखा है कि कैसे खुद अपने हाथ बांधने हैं, जिन्हें क्रिया के बाद दूसरा खोलेगा। बताया जाता है कि मरने वालों में ललित अंतिम था और इसके हाथ भी खुले थे। रजिस्टर में यह भी लिखा है कि हम मरने नहीं जा रहे, परमात्मा से मिलकर वापस आएंगे।


कौन है वो दाढ़ीवाला व्यक्ति


बताया जा रहा है कि इस परिवार में एक दाढ़ी वाला शख्स हफ्ते में दो-तीन बार आता था और काफी देर तक वहां रहता था। पुलिस को शक है कि इसी व्यक्ति ने या तो इन सभी लोगों का ब्रेनवॉश किया है या फिर यह मामला सम्मोहन का भी हो सकता है। पुलिस इस व्यक्ति की तलाश में लगी है। इस बीच पुलिस अपनी जॉच में मिले पांच ऐसे फोन नंबरों के बारे में पता कर रही है, जिन पर रोजाना काफी सारी बातें हुआ करती थीं।


आखिर क्या है 11 पाइप का राज


pipes in buradi house


बुराड़ी के जिस घर में यह घटना घटी, उस घर की एक दीवार पर कुछ अजीब सी स्थिति में 11 पाइप लगे हैं. आमतौर पर किसी घर की दीवार में इस तरह पाइप नहीं लगे होते, क्योंकि इन पाइपों से न तो पानी की निकासी है और न ही किसी और चीज की। पुलिस को इन 11 प्लास्टिक के पाइपों के अलावा जाल में बंधे 11 सरिए भी मिले हैं। पाइप मकान की दाईं दीवार पर लगे हैं जिनमें 4 पाइप सीधे और 7 मुड़े हुए हैं। कहा जा रहा है कि मरने वाले भी 11 थे, जिनमें 4 पुरुष और 7 स्त्रियां थीं जिसे पुलिस इस कांड से जोड़कर देख रही है। हालांकि, परिवार के बड़े बेटे दिनेश जो कोटा में रहता था, का कहना है कि उन्होंने वेंटिलेशन के लिए यह पाइप लगवाए थे।


क्या सच है यह अंधविश्वास की बात


आपको बता दें कि पिछले रविवार दिल्ली के बुराड़ी में रहनेवाले 11 लोगों को उनके ही घर के अंदर मृत अवस्था में पाया गया। इनमें 15 साल का एक किशोर भी शामिल था। इस परिवार के सदस्यों के फेसबुक एकाउंट में मिले सभी फोटोग्राफ तो यही दर्शा रहे हैं कि यह परिवार एक आम परिवार की तरह ही खुश था और सैरसपाटा करना पसंद करता था। इस परिवार की एक रिश्तेदार का कहना है कि लोग अंधविश्वास की बात कर रहे हैं लेकिन ऐसा कुछ नहीं था। इस परिवार के लोग धार्मिक जरूर थे, लेकिन किसी बाबा या तंत्र-मंत्र के चक्कर में नहीं थे। अभी जून के मध्य में ही परिवार की एक लड़की की सगाई हुई थी, जिससे परिवार में सब लोग खुश थे और उन्हें किसी तरह की कोई परेशानी भी नहीं थी।


Buradi Family deaths


अब आप ही बताइये कि आपको क्या लगता है, यह मौतें हत्या है या आत्महत्या? अगर यह आत्महत्याएं हैं तो क्या यह बात सही है कि इसके पीछे गहरा अंधविश्वास जुड़ा है?


इन्हें भी देखें -
1. जानें देश की इन टॉप 8 हाई प्रोफाइल फीमेल मर्डर मिस्ट्रीज़ का पूरा सच
2. जैनाब अंसारी रेप केस में न्याय कर पाकिस्तान ने कायम की मिसाल, भारत में भीड़ ने दी सज़ा-ए-मौत
3. जानिए क्या है इस रहस्यमयी जगह का राज, जहां पक्षी करते हैं सामूहिक आत्महत्या
4. श्रीदेवी के अंतिम दर्शनों के लिए लगी प्रशंसकों की भीड़, 3.30 बजे होगा अंतिम संस्कार

Published on Jul 3, 2018
Like button
2 Likes
Save Button Save
Share Button
Share
Read More