नवरात्रि में देवी मां को लगाएं ये 9 भोग और पहनें इस रंग के कपड़े|POPxoHindi | POPxo
Home  >;  Lifestyle  >;  Astro World  >;  Festival
जानिए नवरात्रि में किस दिन पहनें किस रंग के कपड़े और मां को क्या लगाएं भोग

जानिए नवरात्रि में किस दिन पहनें किस रंग के कपड़े और मां को क्या लगाएं भोग

भक्तों के लिए ये नवरात्रि के नौ दिन बहुत मायने रखते हैं। देश में हर जगह नौ विभिन्न शक्तिशाली रूपों की पूजा-अर्चना बहुत धूमधाम से की जाती हैं। माना जाता है इस पर्व पर पूरी श्रद्धा और विश्वास से माँ भगवती की आराधना करने से मनोवांछित फल मिलता है। भक्त मां को प्रसन्न करने के लिए हर सम्भव कोशिश करते हैं। इस नवरात्रि माता रानी को लगाएं उनके मनपसंद भोग और पहनें दिन के हिसाब से शुभ रंग। फिर देखिए कैसे आपके सारे कष्ट दूर हो जाएंगे। तो जानिए किस दिन क्या भोग चढ़ाने और किस रंग के पहनें कपड़े पहनने से दूर होंगे आपके सारे कष्ट  -


#पहला दिन


मां दुर्गा का पहला रूप हैं देवी शैलपुत्री। पर्वतराज हिमालय के घर पुत्री रूप में उत्पन्न होने के कारण इनका नाम 'शैलपुत्री' पड़ा। इनका वाहन वृषभ है, इसलिए यह देवी वृषारूढ़ा के नाम से भी जानी जाती हैं। इस देवी ने दाएं हाथ में त्रिशूल धारण कर रखा है और बाएं हाथ में कमल सुशोभित है। यही देवी प्रथम दुर्गा हैं। यही सती के नाम से भी जानी जाती हैं।


क्या भोग चढ़ाएं - नवरात्रि के पहले दिन मां के चरणों में गाय का शुद्ध घी अर्पित करने से आरोग्य का आशीर्वाद मिलता है। तथा शरीर निरोगी रहता है।


किस रंग के कपड़े पहनें - पूजा के दौरान और पूजा के बाद भी इस दिन पीले रंग के कपड़े पहनना शुभ माना जाता जाता है।


#दूसरा दिन


मां दुर्गा का पहला रूप हैं देवी ब्रह्मचारिणी। ब्रह्म का अर्थ होता है तपस्या और चारिणी का मतलब होता है आचरण. यानी ब्रह्मचारिणी का अर्थ हुआ तप का आचरण करने वाली। भगवान शंकर को पति रूप में प्राप्त करने के लिए इन देवी ने घोर तपस्या की थी। इस कठिन तपस्या के कारण इस देवी को तपश्चारिणी अर्थात्‌ ब्रह्मचारिणी नाम से जाना जाने लगा।


क्या भोग चढ़ाएं - दूसरे नवरात्रि के दिन मां को शक्कर का भोग लगाएं व घर में सभी सदस्यों को दें। इससे आयु वृद्धि होती है।


किस रंग के कपड़े पहनें - इस दिन भक्तों को हरे रंग के कपड़े पहनने चाहिए और माता के श्रृंगार में हरे रंग का प्रयोग किया जाना शुभ होता है।


ये भी पढ़ें -हर किसी को पता होनी चाहिए नवरात्रि से जुड़ी ये बातें


#तीसरा दिन


मां दुर्गा का पहला रूप हैं देवी चंद्रघंटा। नवरात्रि उपासना में तीसरे दिन की पूजा का अत्यधिक महत्व है और इस दिन इन्हीं के विग्रह का पूजन किया जाता है। इस दिन साधक का मन 'मणिपुर' चक्र में प्रवेश होता है।


pjimage %281%29


क्या भोग चढ़ाएं - नवरात्रि के तीसरे दिन दूध या दूध से बनी मिठाई खीर का भोग मां को लगाकर ब्राह्मण को दान करें। इससे दुखों की मुक्ति होकर परम आनंद की प्राप्ति होती है।


किस रंग के कपड़े पहनें - माता चंद्रघंटा को भूरे व ग्रे की पोशाक धारण कराए जाना चाहिए। भक्तों के लिए इस दिन सिलेटी यानि ग्रे रंग के कपड़े शुभ माने जाते हैं।


ये भी पढ़ें -नवरात्रि में इन चीजों की खरीददारी से रातों रात बदल जाती है किस्मत


#चौथा दिन


नवरात्र के चौथे दिन दुर्गा मां के चौथे रूप माता कुष्मांडा की अराधना की जाती है। जब सृष्टि नहीं थी, चारों तरफ अंधकार ही अंधकार था, तब इसी देवी ने अपने मंद, हल्की हंसी से ब्रह्मांड की रचना की थी। इसीलिए इसे सृष्टि की आदिस्वरूपा या आदिशक्ति कहा गया है।


क्या भोग चढ़ाएं - नवरात्रि के चौथे दिन मालपुए का भोग लगाएं। और मंदिर के ब्राह्मण को दान दें। जिससे बुद्धि का विकास होने के साथ-साथ निर्णय शक्ति बढ़ती है।


किस रंग के कपड़े पहनें - कुष्मांडा देवी को नारंगी रंग बेहद पसंद है इसलिए इस दिन आप नारंगी रंग के कपड़े पहनने चाहिए।


#पांचवा दिन


नवरात्र के पांचवें दिन माता स्कंदमाता की पूजा-अर्चना की जाती है। स्कंदमाता मोक्ष के दरवाजे खोलने वाली और सुख देने वाली देवी हैं। इन्हें श्रद्धा भाव से पूजा करने वालों की सारी इच्छाओं की पूर्ति होती है।


क्या भोग चढ़ाएं - नवरात्रि के पांचवें दिन मां को केले का भोग चढ़ाने से शरीर स्वस्थ रहता है।


किस रंग के कपड़े पहनें - माता स्कंदमाता को सफेद रंग की पोशाक धारण कराई जानी चाहिए। भक्तों के लिए भी इस दिन सफेद रंग के कपड़े शुभ माने जाते हैं।


#छठा दिन


नवरात्रि में छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा की जाती है। इनकी उपासना और आराधना से भक्तों को बड़ी आसानी से अर्थ, धर्म, काम और मोक्ष चारों फलों की प्राप्ति होती है। जन्मों के सारे पाप भी नष्ट हो जाते हैं।


pjimage


क्या भोग चढ़ाएं - नवरात्रि के छठे दिन मां को शहद का भोग लगाएं। जिससे आपके आकर्षण शक्त्ति में वृद्धि होगी।


किस रंग के कपड़े पहनें - माता कात्यायनी को लाल रंग की पोशाक धारण कराए जाना चाहिए। भक्तों के लिए इस दिन लाल रंग के कपड़े पहनना शुभ माना जाता है।


ये भी पढ़ें -इस मंदिर में देवी मां को आता है पसीना, देख लेने से हो जाती है मुराद पूरी


#सातवां दिन


नवरात्र के सातवें दिन माता कालरात्रि की पूजा की जाती है. माता कालरात्रि के शरीर का रंग श्‍याम है। सिर के बाल बिखरे, गले में माला और तीन आंखें होती हैं। इनकी भक्ति से ब्रह्मांड की समस्त सिद्धियों के द्वार खुलने लगते हैं।


क्या भोग चढ़ाएं - सातवें नवरात्रि पर मां को गुड़ का भोग चढ़ाने और उसे किसी ब्राह्मण को दान करने से शोक से मुक्ति मिलती है एवं आकस्मिक आने वाले संकटों से रक्षा भी होती है।


किस रंग के कपड़े पहनें - इस दिन भक्तों के लिए नीले रंग के कपड़े पहनना अति शुभ माना गया है।


#आठवां दिन


नवरात्रि में आठवें दिन महागौरी शक्ति की पूजा की जाती है। कुछ लोग इस दिन तक ही व्रत करते हैं। देवी की उपमा शंख, चंद्र और कुंद के फूल से दी गई है। महागौरी का पूजन-अर्चन, उपासना-आराधना कल्याणकारी है।


क्या भोग चढ़ाएं - नवरात्रि के आठवें दिन माता रानी को नारियल का भोग लगाएं व नारियल का दान कर दें। इससे संतान संबंधी परेशानियों से छुटकारा मिलता है।


किस रंग के कपड़े पहनें - इस दिन भक्तों के लिए गुलाबी रंग के कपड़े पहनना अति शुभ माना गया है।


#नवां दिन


नवरात्र के नौवें दिन मां सिद्ध‍िदात्री भक्त को सिद्ध‍ि का आशीर्वाद देती हैं। भगवान शिव ने भी इस देवी की कृपा से यह तमाम सिद्धियां प्राप्त की थीं। इस देवी की कृपा से ही शिवजी का आधा शरीर देवी का हुआ था। इसी कारण शिव अर्द्धनारीश्वर नाम से प्रसिद्ध हुए।


क्या भोग चढ़ाएं - नवरात्रि की नवमी के दिन तिल का भोग लगाकर ब्राह्मण को दान दें। इससे मृत्यु भय से राहत मिलेगी। साथ ही अनहोनी होने की‍ घटनाओं से बचाव भी होगा।


किस रंग के कपड़े पहनें - इस दिन भक्तों को बैंगनी रंग के कपड़े पहनकर कन्या खिलानी चाहिए।


ये भी पढ़ें -कन्या पूजन में बच्चों को देने के लिए बेस्ट हैं ये गिफ्ट आइटम


 

Published on Mar 16, 2018
Like button
3 Likes
Save Button Save
Share Button
Share
Read More
Trending Products

Your Feed