इंडिया हेरिटेज वाॅक फेस्टिवल 2018ः भारत की विविधतापूर्ण विरासत का जश्न | POPxo
Home  >;  Lifestyle  >;  Celebrations
 इंडिया हेरिटेज वाॅक फेस्टिवल में शामिल होकर भारतीय विरासत का जश्न मनाएं

इंडिया हेरिटेज वाॅक फेस्टिवल में शामिल होकर भारतीय विरासत का जश्न मनाएं

भारत की विविधतापूर्ण विरासत का जश्न मनाने और अलग- अलग क्षेत्रों के लोगों तक अपनी पहुंच बनाने के उद्देश्य से फरवरी महीने में आयोजित किया जा रहा है इंडिया हेरिटेज वाॅक फेस्टिवल। इस फेस्टिवल में लोगों को उनके शहरों और नगरों की मूर्त एवं अमूर्त सांस्कृतिक विरासतों से रूबरू होने का खास मौका मिलेगा। देश के 20 शहरों और नगरों में होने वाले इस अनूठे समारोह के तहत कला एवं संस्कृति, खानपान तथा फलते- फूलते कारोबार के लिए मशहूर ऐतिहासिक स्मारकों और तीर्थस्थलों, प्रसिद्ध भौगोलिक क्षेत्रों और स्थानों की सैर कराई जाएगी। इसके अलावा पूरे महीने के लिए निर्धारित लगभग 70 कार्यक्रमों के तहत बैठकों और सभाओं के रूप में सांस्कृतिक विषयों एवं व्याख्यान शृंखलाओं पर आधारित डाॅक्यूमेंटरीज का एक आॅनलाइन फिल्म समारोह भी आयोजित किया जाएगा।


India Heritage Walk Film Festival


वर्तमान से अतीत में जाने की यात्रा


आईएचडब्ल्यूएफ 2018 का आयोजन भारतीय कला एवं संस्कृति की आॅनलाइन विश्वकोष सहपीडिया तथा यस बैंक के बौद्धिक मंच यस ग्लोबल इंस्टीट्यूट की सांस्कृतिक इकाई यस कल्चर की ओर से किया जा रहा है। सहपीडिया की कार्यकारी निदेशक सुधा गोपालकृष्णन कहती हैं, “हेरिटेज वाॅक वर्तमान से अतीत में जाने की यात्रा है। विशुद्ध रूप से शारीरिक या सौंदर्य अनुभूति से इतर सर्वश्रेष्ठ सैर का मकसद स्मारकों या ऐतिहासिक क्षेत्रों से रूबरू करना है। इससे हमारी कल्पनाशक्ति बढ़ती है और हमें अपने पूर्वजों के जीवन तथा प्राचीन विश्व के बारे में समझने में मदद मिलती है। मुझे उम्मीद है कि इंडिया हेरिटेज वाॅक फेस्टिवल इसमें हिस्सा लेने वालों के लिए अनेक संभावनाओं के द्वार खोलेगा।”


सांस्कृतिक विरासत से समृद्ध शहरों में आयोजन


Heritage walk


चार महानगरों के अलावा आईएचडब्ल्यूएफ 2018 के तहत सांस्कृतिक विरासत से समृद्ध जयपुर, उदयपुर और आगरा जैसे वे सभी शहर शामिल किए जाएंगे जो सांस्कृतिक नक्शे पर प्रमुखता से अंकित हैं। इसके अलावा जम्मू कश्मीर के श्रीनगर, अरुणाचल प्रदेश के इटानगर और केरल के त्रिपुनिथुरा जैसे शहर भी इसमें शामिल किए गए हैं जो अपेक्षाकृत कम पहचान रखते हैं। विषय आधारित तैयार की गई इस वाॅक का नेतृत्व संग्रहालयों, ऐतिहासिक रूप से महत्वपूर्ण स्मारकों, बाजारों, आकर्षक प्राकृतिक क्षेत्रों और अपने समृद्ध खानपान से प्रसिद्ध क्षेत्रों के अलग- अलग विशेषज्ञों द्वारा किया जाएगा। मुंबई और जयपुर जैसे शहरों में आयोजित वाॅक कार्यक्रम में दिव्यांग व्यक्तियों का खास ख्याल रखा गया है।


शुभारंभ के साथ ही चार वाॅक कार्यक्रम


Nizamuddin Basthi 2


भारत की विविधतापूर्ण विरासत का जश्न मनाने और अलग- अलग क्षेत्रों के लोगों तक अपनी पहुंच बनाने के उद्देश्य से फरवरी महीने में आयोजित किया जा रहा है इंडिया हेरिटेज वाॅक फेस्टिवल। इस फेस्टिवल में लोगों को उनके शहरों और नगरों की मूर्त एवं अमूर्त सांस्कृतिक विरासतों से रूबरू होने का खास मौका मिलेगा। देश के 20 शहरों और नगरों में होने वाले इस अनूठे समारोह के तहत कला एवं संस्कृति, खानपान तथा फलते- फूलते कारोबार के लिए मशहूर ऐतिहासिक स्मारकों और तीर्थस्थलों, प्रसिद्ध भौगोलिक क्षेत्रों और स्थानों की सैर कराई जाएगी। इसके अलावा पूरे महीने के लिए निर्धारित लगभग 70 कार्यक्रमों के तहत बैठकों और सभाओं के रूप में सांस्कृतिक विषयों एवं व्याख्यान शृंखलाओं पर आधारित डाॅक्यूमेंटरीज का एक आॅनलाइन फिल्म समारोह भी आयोजित किया जाएगा।


पहली वॉक अहमदाबाद में


Nam Soon Church- Kolkata


पहला कार्यक्रम “वाॅकिंग द सेक्रेड रूट एट वल्र्ड हेरिटेज सिटी आॅफ अहमदाबाद” अहमदाबाद में 3 फरवरी को आयोजित किया जाएगा जिसके तहत इस शहर के एक वर्ग किलोमीटर दायरे में सैर- सपाटा होगा और यह हिंदू, मुस्लिम, ईसाई, पारसी, यहूदी तथा जैन धर्मों के तीर्थस्थलों के सौहार्द्रपूर्ण सह- अस्तित्व का प्रतीक प्रदर्शित करेगा। इस वाॅक के जरिये इन पवित्र स्थलों से जुड़ी अनूठी प्रतीकात्मकता, कला, वास्तुकला और इतिहास तथा उनके संबंधित समाज से परिचय कराया जाएगा। यह सैर इन धर्मावलंबियों की मूल विचारधाराओं तथा मान्यता प्रणालियों की झलक दिखाएगी।


थीम आधारित वाॅक


Fallen War Bird Itanagar


इसके अलावा होने वाली बाकी थीम आधारित वाॅक में शामिल हैं- ‘आॅफ रिच टेक्सटाइल्स एंड हिस्टोरिक लिनिएजेजः ए टेक्सटाइल ट्रेल इन अहमदाबाद’, ‘मिंडरिंग थ्रू हौज खासः फ्राॅम तुगलक टु ताहिलियानी’ और ‘सूफी सफर हजरत निजामुद्दीन बस्ती (दोनों दिल्ली में), ‘वाॅकिंग एमिड्स्ट नेचर इन हैदराबाद गाची बावली’, ‘एक्सप्लोरिंग बासवनगुडीः ओल्ड बंगलूरू साइट्स एंड साउंड्स’, ‘स्टोरीज आॅफ थ्रोनः एक्सप्लोरिंग त्रिपुनिथुरा’, ‘फूड एंड हिस्ट्री थ्रू द ओल्ड सिटी आॅफ पुणे’, ‘मिनिएचर एंड फ्रेस्को पेंटिंग्स आॅफ बीकानेर’, ‘एक्सप्लोरिंग द महाकाली केव्स आॅफ मुंबई’, ‘द टाॅकीज वाॅकः ट्रेसिंग द हिस्टोरिकल सिंगल स्क्रीन थियेटर्स इन मुंबई’, ‘ओवल मैडन हेरिटेज वाॅक’, ‘द जैन एंड द मुगलः ए सिंफनी दैट कंटिन्यू’ (अहमदाबाद) और ‘ए फूड वाॅक इन ए चार्मिंग मार्केट-गांधी बाजार (बंगलूरू)। अरुणाचल प्रदेश के इटानगर में इंदिरा गांधी पार्क तथा जवाहरलाल नेहरू स्टेट म्यूजियम के बाहर गोते लगाते लड़ाकू विमानों की कलाबाजी संबंधित ‘ए हेरिटेज ट्रेल टु द फाॅलेन वारबड्र्स आॅफ ईटानगर’ नामक वाॅक में हिस्सा लेने वाले विमानन इतिहास की झलक देख सकेंगे। 


इन्हें भी देखें- 


रागस्थान : मन-आत्मा को रिचार्ज करने के लिए जैसलमेर में होगा संगीत महोत्सव


भारतीय भाषाओं का उत्सव मनाने जाएं जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल


इस अनूठे आॅनलाइन हेरिटेज फिल्म फेस्टिवल में आप भी भेज सकते हैं अपनी फिल्म


 

Published on Jan 30, 2018
Like button
2 Likes
Save Button Save
Share Button
Share
Read More
Trending Products

Your Feed