फॉलो करें यह बेडटाइम रुटीन, ताकि आपकी एड़ियां बनी रहें सॉफ्ट | POPxo Hindi | POPxo
Home  >  Lifestyle
फॉलो करें यह बेडटाइम रुटीन, ताकि आपकी एड़ियां बनी रहें सॉफ्ट- सॉफ्ट

फॉलो करें यह बेडटाइम रुटीन, ताकि आपकी एड़ियां बनी रहें सॉफ्ट- सॉफ्ट

फटी एड़ियों की समस्या अक्सर अनेक एडल्ट्स को परेशान करती है और सर्दियों ही नहीं, गर्मियों में भी पर्याप्त मॉइश्चर न मिलने की वजह से यह समस्या काफी बढ़ जाती हैं। ऐसे में अगर इन क्रेक हील्स की केयर नहीं की जाती तो हालत बद से बदतर हो जाती है, यहां तक कि इसके क्रेक इतने बढ़ जाते हैं कि इनमें से खून आने लगता है या फिर मवाद पड़ जाता है। आपकी एड़ियों के साथ ऐसा न हो, इसके लिए क्रेक पड़ने से पहले ही इसकी केयर और ट्रीटमेंट कर लेना बेहतर है।


सोने से पहले पैरों पर लगाएं मॉइश्चराइज़र


शुरूआत के लिए सबसे पहले आप नियमित बेडटाइम रुटीन फॉलो करें। सुनिश्चित कर लें कि आप रोजाना सोते वक्त आपके पैर साफ और मॉइश्चराइज़्ड हों। इसके लिए आप सोने से पहले अपने पैरों की एड़ियों पर मॉइश्चराइज़र जरूर लगाएं। शरीर के किसी भी हिस्से में मॉइश्चराइज़र लगाने का सबसे सही समय सोने से पहले का ही है, क्योंकि इससे यह सुनिश्चित होता है कि इसपर धूल नहीं पड़ेगी और करीब 7-8 घंटे इसको शरीर पर अपना काम करने के लिए पर्याप्त वक्त मिल जाएगा।


Lavender oil


घर पर ही बनाएं बेस्ट मॉइश्चराइज़र  


आपकी एड़ियों के लिए बेस्ट मॉइश्चराइज़र आप अपने घर पर स्वयं ही तिल के तेल में लैवेंडर ऑयल को मिला कर बना सकते हैं। इसके लिए एक बॉटल में आधा कप तिल का तेल लें और इसमें 6 बूंदें लैवेंडर ऑयल की डालें। अब बॉटल को बंद करके अच्छी तरह से तब तक शेक करें जब तक कि यह एक थिक सॉल्यूशन न बन जाए। यह मिक्सचर फटी एड़ियों के लिए जादू का काम करता है। हां इसे सोने से पहले रोजाना अपनी एड़ियों पर लगाना बिलकुल न भूलें। ऐसा करने पर आपको इसका असर कुछ ही दिनों में नजर आने लगेगा। हां, ध्यान रहे कि हर बार इसे लगाने से पहले बॉटल को शेक करना जरूरी है।


तिल का तेल


तिल का तेल स्किन के लिए हीलर के तौर पर जाना जाता है। अपनी नटी खुशबू, पोषक तत्वों, इन्फ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुणों के कारण यह स्किन में गहरे तक जाकर स्किन को पोषण देता है और हील करता है। यह स्किन को रिपेयर करके इसका टेक्सचर सॉफ्ट और स्मूथ बनाता है। इसे मसाज़ ऑयल की तरह से इस्तेमाल करने से यह स्किन को न सिर्फ डीटॉक्सीफाय करता है बल्कि स्किन की इलास्टिसिटी को भी सुधारता है।


लैवेंडर ऑयल


इसी तरह से लैवेंडर ऑयल अपनी एंटी इन्फ्लेमेटरी गुणों की वजह से जाना जाता है, जिससे यह इन्फ्लेमेशन के लिए जिम्मेदार बैक्टीरिया को समाप्त कर देता है। इससे भी ज्यादा महत्वपूर्ण यह है कि यह तेल ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है, जिससे आपको मिले गहरी और आरामदेह नींद।


(सोलफ्लावर के मैनेजिंग  डायरेक्टर अमित सारदा से बातचीत के आधार पर)


इसे भी देखें-





Subscribe to POPxoTV
Published on Jan 21, 2018
Like button
1 Like
Save Button Save
Share Button
Share
Read More
Trending Products

Your Feed