#MyStory: मगर जब प्यार निभाने का वक्त आया तो उसने… | POPxo

#MyStory: मगर जब प्यार निभाने का वक्त आया तो उसने…

Anonymous

Guest Contributor

सुमित से मैं एक common friend आकाश के ज़रिए मिली थी। आकाश की birthday party थी। उसने मुझे मेरे PG से लाने के लिए अपने एक दोस्त को भेजा था। मैं थोड़ा झिझक रही थी पर आकाश के कहने पर उसके साथ आने के लिए तैयार हो गई थी। मुझे एक फोन आया, " Hii, मैं सुमित बोल रहा हूं, क्या तुम मुझे PG तक का रास्ता guide कर सकती हो?"

पंद्रह मिनट के बाद वो बाहर था। गाड़ी में बैठते ही introduction हुआ और फिर मैं चुप हो गई। पर उसमें कुछ तो था जो मुझे उसकी तरफ खींच रहा था। उसने ही बात शुरु की और हंसते-हंसाते कब हम venue तक पहुंच गए पता ही नहीं चला। वो पार्टी सिर्फ करीबी दोस्तों के लिए थी। पार्टी के बाद वापिस आने पर मैं सुमित के बारे में ही सोच रही थी और मैं उसे और जानना चाहती थी।

कुछ दिनों के बाद मुझे halloween party का invite आया। मेरी colleague ने बुलाया था और ये भी पूछा था कि क्या मैं किसी और को भी लाना चाहती हूं। एक पल को सुमित का खयाल आया पर फिर मैंने मना कर दिया और अकेले ही जाने का सोचा। हां, लड़कों के लिए साथ में किसी को लाना ज़रुरी था।

शाम को मुझे सुमित का कॉल आया और उसने पूछा कि क्या मैं अगले दिन free थी। मैं उसके कॉल से खुश हो गई थी पर तभी याद आया कि अगले दिन तो halloween party है! मैंने बहुत बुझे मन से उसे मना कर दिया कि मेरे कुछ और plans हैं। और तभी उसने कहा, "एक party है यार, मेरे साथ चलो ना।" मैं हैरान रह गई क्योंकि ये वही पार्टी थी!! मैं खुशी से नाच उठी थी।

पार्टी में कुछ वक्त बिताने के बाद आकाश और उसकी girlfriend ने कहा कि, “चलो drive पर चलते हैं।" हम चारों निकल तो गए पर कुछ drinks के बाद आकाश के flat पर जाने का decide किया क्योंकि मेरा PG वहां से बहुत दूर था। आकाश और उसकी girlfriend तो उसके कमरे में चले गए और हम living area में ही बैठ गए। हमें नींद तो नहीं आ रही थी इसलिए हमने बातें करनी शुरु की। अचानक उसने मेरे हाथ  पर अपना हाथ रखा और कहा," तुम्हारी आंखें बहुत सुन्दर हैं। मैं तुम्हें पहली बार मिलने पर ही ये बताना चाहता था पर कह नहीं पाया।" वो मेरे बहुत करीब आ गया था। उसने मेरे गाल पर हाथ रखा तो मैंने अपनी आंखें बंद करली। उसने मुझे kiss किया और मैं भी अपने आप को रोक ना सकी। हमें कब एक दूसरे की बांहों में ही नींद आ गई पता ही नहीं चला। अगली सुबह उसने मुझे PG में drop किया और मैं उस छोटे से पर प्यारे से make out session के ख्यालों में ही गुम रही।

FI image-my story, #MyStory: मगर जब प्यार निभाने का वक्त आया तो उसने… | POPxo, दोस्त

कुछ दिनों तक हम ऐसे ही मिलते रहे। एक दिन हम उसकी car में बैठे बातें कर रहे थे  तो उसने मुझे कहा कि, " मुझे तुमसे बहुत ज़रूरी बात करनी है। तुम से दूर जाना मेरे लिए बहुत मुश्किल है पर मेरी family ने मेरे लिए रिश्ता देखा है, और मैं अपनी मम्मा के against नहीं जा सकता। पापा के जाने के बाद मैंने उनकी हर ख्वाहिश पूरी की है और ये बात भी मुझे माननी पड़ेगी।"

हम दोनों अलग caste से थे इसलिए उसके घरवालों ने मेरे लिए मना कर दिया था। पता नहीं उसने उन्हें कितना मनाने की कोशिश की...की भी या नहीं..मुझे कभी उसने अपने घरवालों से मिलवाया नहीं। वो रिश्ता बहुत कम वक्त के लिए था.. उस दिन हमने एक दूसरे को आखिरी kiss किया और goodbye कह दिया।

तीन महीने बाद वो किसी और का हो गया था। जो ख्वाब मैंने देखा था वो किसी और की ज़िंदगी में सच हो गया था।

Images: Shutterstock

ये भी पढ़ें: #MyStory: और हम Lovers से फिर अजनबी बन गए…

ये भी पढ़ें: #MyStory: उसे खो कर मैंने खुद को वापस पाया…
Published on May 04, 2016
Save
Sign in to read more
home messages notifications search hamburger menu
POPxo uses cookies to ensure you get the best experience on our website More info

Discuss things safely!

Sign in to POPxo World

India’s largest platform for women

Start a poll Ask a question