ये हैं PMS से डील करने के आसान तरीके! | POPxo
Home  >  Lifestyle  >  Relationships  >  Self Help
ये हैं  PMS से डील करने के आसान तरीके!

ये हैं PMS से डील करने के आसान तरीके!

हर महीने आने वाले मेहमान का हमें पता होता है, लेकिन हमें उसका welcome करने का मन नहीं होता है क्योंकि अपने साथ अपने दोस्त - मूड swings (anxiety, डिप्रेशन, चिड़चिड़ापन, etc), क्रैंप्स, ब्लोटिंग, दर्द, ब्रेस्ट tenderness, नींद ना आना, etc - जो लेकर आता है। अब ऐसे मेहमान को भला कौन पसंद करता है?! लोगों को PMS मज़ाक लगता है, लेकिन जिन्हें ये सहना पड़ता है, ज़रा उनसे पूछ के देखिए। लगभग 80% महिलाएं किसी ना किसी form में PMS के symptoms को face करती हैं.....इसलिए ये कोई मामूली बात तो नहीं है। और आज हम आपको इसी ज़िद्दी PMS से डील करने के कुछ आसान और असरदार तरीके बताएंगे, ताकि अगली बार आप इससे निपटने के लिए तैयार रहें!!

1. थोड़ा हिले-डुलें!!RESIZED PMS 1

हमें पता है कि ऐसी situation में exercise या कोई भी physical activity करने का ना मन करता है और ना हिम्मत होती है :( लेकिन थोड़ी हिम्मत करें और कोई ना कोई exercise ज़रूर करें जैसे थोड़ी walk करें या योगा करें। और हां, थोड़ी बहुत स्ट्रेचिंग भी ज़रूर करें! इससे PMS के symptoms की आपके पास आने की हिम्मत नहीं होगी। #GirlPower ;)

2. Cravings को कहें "ना"!

पीरियड के पहले और पीरियड के समय अपनी डाइट पर ख़ास ध्यान दें! इस समय आपको चॉकलेट, फ्रेंच fries जैसे जंक फ़ूड/unhealthy फूड खाने का मन करता है और ऐसा हॉर्मोन्स के fluctuate होने की वजह से होता है। इस समय कैफीन और alcohol लेना भी कम कर दें और अगर आपको ब्लोटिंग की प्रॉब्लम होती है, तो ज़्यादा नमक खाने से भी परहेज करें। आप थोड़ी सी स्ट्रांग रहें और इन cravings को नज़रअंदाज़ करें! इनकी जगह फ्रेश फ्रूट या ड्राई फ्रूट्स खाएं। इस थोड़े से कंट्रोल का फायदा आपको ज़रूर नज़र आएगा!! Yayyyy.....#StrongGirl

3. सही डाइट का कमालRESIZED PMS 3

इन दिनों में अपनी डाइट का ख़ास ख्याल रखें और संतुलित डाइट लें। ताज़े फल व सब्ज़ियां, whole ग्रेन, ड्राई फ्रूट, दूध, अण्डे जैसी हेल्दी चीज़ें खाएं। अगर आपको पेट दर्द या ब्लोटिंग की प्रॉब्लम होती है, तो दिन में 3 बार खाना खाने की जगह थोड़ी-थोड़ी देर में, कम-कम खाएं यानि कम portion साइज़ में ज़्यादा बार खाएं। इससे आपके abdomen पर कम दबाव पड़ता है और आपको इस प्रॉब्लम से निजात मिलती है।

4. मछली की तरह पानी पिएं!

जी हां, अपनी बॉडी में पानी की कमी बिल्कुल ना होने दें, क्योंकि कईं बार dehydration के कारण भी PMS जैसे symptoms आने लगते हैं। तो बॉडी को पानी देती रहें और खुश रखें.....क्योंकि जब बॉडी खुश रहेगी, तो आप भी खुश रहेंगी :)

5. ज़रूरी nutrients को ना करें नज़रअंदाज़!RESIZED PMS 5

कई बार PMS symptoms की वजह बॉडी में किसी ज़रूरी nutrient - जैसे कैल्शियम, विटामिन या मिनरल - की कमी भी होती है। इसलिए संतुलित डाइट लेने पर इतना ज़ोर दिया जाता है! लेकिन किसी वजह से ऐसा नहीं हो पाता है, तो इनके सप्लीमेंट्स ज़रूर लें। इस समय में सबसे ज़रूरी nutrients जो आपको लेने ही चाहिएं, वो हैं - कैल्शियम, विटामिन B6, E और मैग्नीशियम - कैल्शियम की कमी और PMS symptoms भी काफी मिलते-जुलते होते हैं। मैग्नीशियम - ब्लोटिंग नहीं होने देता है, विटामिन E - PMS के symptoms को कम करने में मदद करता है और B6 - PMS के कारण हुए डिप्रेशन से लड़ने में मदद करता है। तो लेडीज़, PMS से लड़ने के लिए इन्हें अपना हथियार बना लीजिए!!

6. असरदार गरम सेक

आपकी दादी, नानी या मम्मी जब आपको गरम पानी का सेक करने के लिए कहती हैं, तो वो गलत नहीं हैं। उन्हें आपसे ज़्यादा अनुभव है, इसलिए उनकी बात सुनें और मानें! पेट दर्द और क्रैंप को कम करने के लिए अपने lower abdomen या पीठ पर 15-20 मिनट के लिए गरम पानी की बॉटल या हीटिंग पैड रखें और रिलैक्स करें। इससे ना सिर्फ आपका दर्द और क्रैंप्स कम होंगे बल्कि आपको एनर्जी भी महसूस होगी! है ना win-win situation?! ;)

7. ब्यूटी स्लीप है बेहद ज़रूरी!RESIZED PMS 7

जब हम सोते हैं, तब हमारी बॉडी heal और rejuvenate होती है, इसलिए इसे ब्यूटी स्लीप कहते हैं! और खासकर पीरियड या PMS के समय जब बॉडी थकी हुई लगती है और रेस्ट चाहती है, तो उसकी आवाज़ को नज़रअंदाज़ ना करें। उसे ज़रूरी आराम और नींद दें। हमारा यकीन मानिए ऐसा करने पर आपको खुद फर्क महसूस होगा!!

8. दवाई का साथ!

अगर आपको प्रॉब्लम बहुत ज़्यादा हो, तो आप ibuprofen या meftal spas जैसी दवाईयां ले सकती हैं। ये severe दर्द से राहत देने में मदद करती हैं। अगर आप ब्रेस्ट tenderness experience कर रही हैं, तो आप evening primrose oil supplement ले सकती हैं। ये पीरियड की कई प्रॉब्लम्स के लिए बढ़िया हर्बल remedy है। लेकिन अगर फिर भी आपको राहत ना मिले, तो डॉक्टर से चेक-अप करवाएं। ये हर महीने होता है इसका मतलब ये नहीं है कि आप सामान्य से ज़्यादा प्रॉब्लम सहें, इसलिए डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें। लेडीज़, अपनी लाइफस्टाइल में ये छोटे-छोटे बदलाव लाएं और PMS से निपटने को तैयार रहें!! स्टे हेल्दी beauties :) Images: Shutterstock ये भी पढ़ें: बादाम तेल के ये 13 अनोखे फायदे आज ही ट्राय करें! ये भी पढ़ें: हर लड़की को सुननी पड़ती है ये 10 फिज़ूल की बातें अपने रिश्तेदारों से
Published on May 10, 2016
Like button
1 Like
Save Button Save
Share Button
3 Shares
Read More
Trending Products

Your Feed