#MyStory: और वो रात मेरी ज़िंदगी की सबसे खूबसूरत रात बन गई! | POPxo

#MyStory: और वो रात मेरी ज़िंदगी की सबसे खूबसूरत रात बन गई!

Anonymous

Guest Contributor

वो सब Facebook की एक पोस्ट से शुरू हुआ। मैं एक entrance exam की तैयारी कर रही थी और इसी सिलसिले में मैंने फेसबुक पर कुछ pages join किए थे। एक ऐसे ही तैयारी कर रहे ग्रुप के फेसबुक पेज पर मैंने एक सवाल पूछा और उसने इस पर कमेंट किया। वो ये एग्ज़ाम दुबारा दे रहा था इसलिए मैंने उसे फेसबुक पर ही एक personal मैसेज किया। इसके बाद हम दोनों के बीच बातचीत शुरू हो गई। फेसबुक पर ये बातचीत रोज़ाना होने लगी...हम दोनों exam के बारे में बात करते थे। कुछ समय पर मैंने ही उससे पूछा कि क्या हम WhatsApp पर बात कर सकते हैं। वो मान गया और हम दोनों ने अपना मोबाइल नंबर एक दूसरे के साथ शेयर किया।

शुरू-शुरू में हम दोनों सिर्फ पढ़ाई की ही बात करते थे..ज्यादातर हमारे बीच रात को ही बात होती थी। हम दोनों तैयारी में एक दूसरे की मदद करते थे। एक दिन ऐसे ही बात करते हुए रिलेशनशिप पर बात शुरू हो गई। “मुझे यकीन नहीं होता कि तुम्हारा कभी कोई boyfriend नहीं रहाI …?” WhatsApp पर चैट करते हुए उसने मुझसे पूछा।

“मैं हमेशा पढ़ाई में ही लगी रहती थी इसलिए शायद कभी किसी की जरूरत ही महसूस नहीं हुई।” जब किसी लड़की का कोई boyfriend नहीं होता तो वो शायद यही बोलती है। मैं वैसे बहुत हंसमुख थी और मेरे बहुत सारे दोस्त थे, लेकिन मैं कभी किसी रिलेशनशिप में नहीं पड़ी थी।

“ये बहुत strange है...मतलब मेरी भी एक girlfriend थी दो साल पहले लेकिन हमारा ब्रेकअप हो गया।”
मैंने जवाब में बस एक smiley भेज दी।

फिर हमारे बीच kissing के बारे में बात शुरू हुई। मैंने अपनी जिंदगी में कभी किसी को kiss नहीं किया था। Obviously, उसने अपनी पहली रिलेशनशिप में kiss experience किया था। अचानक से उसने पूछा, “अगर मैं तुम्हें अभी इसी वक्त kiss कर लूं तो कैसा लगेगा?”

जब मैंने उसका ये मैसेज पढ़ा तो मेरा चेहरा लाल हो गया! मैं उस वक्त बेड पर लेटी हुई थी और कमरे की लाइट ऑफ थी। मैं उसे कुछ ही दिन से जानती थी लेकिन उसका यह सवाल मुझे बिल्कुल भी बुरा नहीं लगा।

“मुझे नहीं पता। हम एक दूसरे को जानते ही कितना है...हम दोनों तो एक शहर में भी नहीं रहते …” मैंने उसे मैसेज लिखकर भेजा। शायद मुझे उससे इन सब चीजों के बारे में बात नहीं करनी चाहिए थी लेकिन पता नहीं क्यों...मुझे ये सब अच्छा लग रहा था।

“सोचो, अगर मैं तुम्हें जोर से पकड़कर अपने पास खींच लूं और तुम्हें kiss कर लूं तो तुम क्या करोगी?” उसने पूछा।

“क्या होगा अगर मैं तुम्हें धक्का देकर दूर हटा दूं?” मुझे समझ ही नहीं आया कि और क्या बोलूं। वो जिस तरह से मुझसे flirt कर रहा था मुझे अच्छा लग रहा था। मुझे पता था कि इन सब बातों का कोई अंजाम नहीं होगा..शायद इसीलिए मैं उससे ये सब बात कर पा रही थी... बिना कोई प्रेशर और discomfort feel किए बिना।

first-time-1

“फिर मैं तुम्हें और ज़ोर से पकड़ लूंगा और तुम्हें कुछ नहीं करने दूंगा। मैं अपने होंठ तुम्हारे होंठों पर रख दूंगा और तुम्हें जोर से kiss करुंगा। तुम्हें अच्छा लगेगा?”

जिस वक्त मैंने वो पढ़ा...मुझे सच में उसकी जरूरत महसूस होने लगी। “मुझे शायद वो अच्छा लगेगा …” मैंने एक naughty smiley के साथ उसे लिखकर भेजा. मैं उस वक्त मुस्कुरा रही थी।

उस पूरी रात हमने इसी तरह बात की। वो मुझसे फ्लर्ट कर रहा था, कुछ भी sexual कहता और मैं वापस उससे फ्लर्ट करती। ये सब कुछ दिनों तक चलता रहा...फिर हमने skype पर बात की। जब हमने Skype पर बात करनी शुरू की सब कुछ बदलने लगा, हम दोनों एक दूसरे के लिए सीरियल होने लगे और 20 दिन के अंदर ही सब कुछ बदल गया! और इस तरह वो मेरा पहला boyfriend बना। हम दोनों का entrance exam 16 अक्टूबर को दिल्ली में था। हम दोनों ने फैसला किया हम दिल्ली में मिलेंगे और एक रात एक दूसके साथ किसी होटल में रहेंगे। हम दोनों के बीच सब बहुत अच्छा चल रहा था और हम सेक्स के बारे में बात करते थे। लेकिन दिल्ली जाने के सिर्फ एक हफ्ते पहले ही उसने कहा कि वो मुझसे नहीं मिल सकता क्योंकि उसे कोई बहुत ज़रूरी काम है और उसे exam देने के बाद फौरन वापस जाना होगा। मुझे बुरा तो बहुत लगा लेकिन मैं कुछ नहीं कर सकती थी।

उस पूरे हफ्ते मैं उसे मनाती रही कि किसी तरह वो अपना काम बाद में कर ले और हम मिल सकें। उसने कहा कि वो दिल्ली आने से बस एक दिन पहले ही अपना पक्का प्रोग्राम बता सकता है। इस बात को लेकर हमारी लड़ाई भी हुई और मुझे यकीन हो गया कि हम नहीं मिल पाएंगे।

मैं दिल्ली गई और अपना exam दिया। जैसे ही exam खत्म हुआ मेरे पास उसका फोन आया कि वो मुझसे एक दिन बाद मिल सकता है तो हमने 17 की सुबह मिलने का फैसला किया। मुझे अभी भी उस पर यकीन सा नहीं हो रहा था। मैं बहुत ज्यादा उम्मीद नहीं बांधना चाहती थी क्योंकि मुझे भरोसा नहीं था कि वो मिलने आएगा ही।

लेकिन वो आया। सुबह 10 बजे हम हौज़ खास मैट्रो स्टेशन पर मिले। वो हमारी पहली मुलाकात थी और मुझे लग रहा था कि ऐसे मिलना बहुत awkward होगा। लेकिन वो बिल्कुल भी awkward नहीं था। हम दोनों के बीच का affection उस मुलाकात में भी था।

हम कुछ देर बाहर यहां-वहां घूमे और फिर कनॉट प्लेस गए। वहां कुछ खाने के बाद हमने होटल ढूंढना शुरू किया। एक अच्छे होटल में हमने एक रूम बुक किया। उस वक्त दोपहर के करीब 1 बजे थे। हम कमरे में जाकर फ्रेश हुए और वहीं बैठ गए।

मेरा दिल ज़ोर से धड़क रहा था। फोन पर बात या चैट करने तक तो ठीक था लेकिन उसके सामने बैठकर बात करना...वो feeling बहुत अलग थी। मैंने बहाना किया कि मैं थक गई हूं और बेड पर लेट गई। उसने कमरे की लाइट ऑफ कर दी और मेरे साथ बेड पर ही लेट गया।

मैं बेड के एक कोने में जाकर सिमट गई और खुद को blanket में छुपा लिया। वो बेड पर आया और उसने मुझे अपने पास खींच लिया। बिना एक शब्द बोले उसने मुझे kiss किया...मैंने भी उसे वापस kiss किया..उतने ही passion के साथ..धीरे धीरे हम दोनों आगे बढ़े, उसका हाथ पहले मेरी शर्ट के अंदर गया और फिर.... कुछ ही देर में हम दोनों एक दूसरे के साथ naked लेटे थे। मुझे लग ही नहीं रहा था कि मैं उसे बस कुछ हफ्तों से जानती हूं..हमारे बीच का वो कनेक्शन एकदम जादू की तरह था।

 

first-time-2

कुछ देर यूं ही एक दूसरे के साथ cuddling के बाद हम दोनों ने कपड़े पहने और बाहर कुछ खाने के लिए चले गए। वापस कमरे में आते ही उसने मुझे फिर से बेड पर खींच लिया और मुझे kiss करने लगा। एक बार फिर हम दोनों बेड पर एक दूसरे के साथ naked थे। उसे कंडोम निकाला...मैं बहुत ही nervous हो रही थी क्योंकि मेरे लिए वो पहली बार था और मैंने सुना था कि पहली बार में बहुत ज्यादा pain होता है।

मेरी आंखों में ये confusion उसने देख ली। वो मेरे पास यूं ही आकर लेट गया और मेरे से बातें करने लगा। मैं भी चाहती थी सेक्स करना लेकिन मुझे दर्द से डर लग रहा था। उसने कहा कि वो धीरे धीरे सब कुछ करेगा, मैं मान गई। वो बस शुरूआत थी।

सुबह तक मैं पूरी तरह exhaust हो चुकी थी। उस दिन हम दोनों को वापस जाना था और हमारी ट्रेन शाम की थी। हमने सारा दिन बेड में ही एक दूसरे के साथ बातें करते हुए बिताया।

वो रात मेरी ज़िंदगी की सबसे खूबसूरत रात बन गई। हम दोनों का रिश्ता आज भी उतना ही मजबूत और खूबसूरत है। हम दोनों रोज बात करते हैं और skype पर बात करते हैं। मैं हमेशा से चाहती थी कि मेरा first time ऐसा ही हो जैसे सब कुछ हुआ और मुझे बहुत अच्छा लगता है बार बार वो सब सोचना भी।

P.S.: अगर तुम ये पढ़ रहे हो तो मैं तुम्हें कहना चाहती हूं I love you. मैंने तुमसे ये कभी नहीं कहा क्योंकि मुझे डर लगता था कि पता नहीं तुम भी मुझे प्यार करोगे या नहीं...लेकिन जब ही समय आएगा तो मैं खुद तुमसे कहूंगी..।

images: shutterstock

यह भी पढ़ें : #MyStory: हमारा रिश्ता Perfect था लेकिन समय नहीं…

यह भी पढ़ें : #MyStory: वो मुझे Sex के लिए ब्लैकमेल कर रहा था
Published on Mar 09, 2016
home messages notifications search hamburger menu
POPxo uses cookies to ensure you get the best experience on our website More info

Just Another Step!

SIGN IN TO POPxo WORLD

to see what other girls are talking about