शादी पक्की हो गई, लेकिन पैसों की बात की क्या? | POPxo
Home  >  Wedding  >  Wedding Ideas & Tips
शादी पक्की हो गई, लेकिन पैसों की बात की क्या?

शादी पक्की हो गई, लेकिन पैसों की बात की क्या?

शादी के लिए प्यार होना बहुत जरूरी है। मगर प्यार के बाद जो चीज कई बार रिलेशनशिप में problems पैदा करती हैं या कहें कि रिलेशनशिप को कंट्रोल सा कर लेती है, वो है पैसा यानि finances। अक्सर शादी तय हो जाती है, लेकिन कपल्स फ्यूचर फाइनेंस के बारे में बात नहीं कर पाते। कई बार हिचक के कारण, कई बार जरूरत नहीं समझते। मगर आप ऐसी गलती न करें, तो अच्छा है। शादी से पहले अपने फ्यूचर पार्टनर से जरूर पूछें फाइनेंस से जुड़े ये पांच सवाल-

1. लोन तो नहीं लिया

finances-1 इस बारे में बात करने के लिए आपको एक अच्छे माहौल की जरूरत है। बातों ही बातों में अपने पार्टनर की फाइनेंशियल situation जानने की कोशिश करें। कहीं उसने किसी से उधार या कर्ज तो नहीं लिया है। इसमें एजुकेशन लोन, होम लोन जैसा कुछ भी शामिल हो सकता है। मगर इस बारे में आपको जानना जरूरी है। अपने पार्टनर से इस लोन को जल्द चुकाने या अर्निंग बढ़ाने के तरीकों के बारे में बात करें। ये सारी बातें आप उन पर दबाव डालकर नहीं, बल्कि उनका साथ देने का अहसास दिलाकर भी कर सकती हैं। इसके साथ ही फ्यूचर के लिए की गई सेविंग्स पर भी आप आपस में बात कर सकते हैं।

2. बच्चों और उनके future के बारे में

finances-2 इस बारे में बात करना भी बहुत जरूरी है कि आपका पार्टनर शादी के कितने समय बाद बच्चे चाहता है। पैरेंटिंग को लेकर आपके पार्टनर की सोच भी आपको पता होनी चाहिए। क्या आप शादी के बाद जॉब करेंगी या आपका पार्टनर चाहता है कि आप हाउसवाइफ बन जाएं। अगर आप जॉब करेंगी, तो आपके बच्चों की केयर किस तरह होगी। यह एक अच्छा समय होगा, उन सब बातों के बारे में खुलकर बातचीत करने का, जिनका आपको आने वाले समय में सामना करना है। इससे भी फाइनेंशियल जरूरतों का अहसास पहले से ही हो जाएगा, और उन्हें लेकर तैयारी करने का भी आपके पास समय होगा।

3. पैसों के लिए Place बदलना पड़े, तो

finances-3 वक्त कुछ भी करवा सकता है। कभी ऐसी situation आ जाए कि अपना शहर या स्टेट छोड़कर दूसरी जगह काम करने जाना पड़े, तो आपका पार्टनर क्या करेगा। ऐसे सवालों से भी दो-चार होना जरूरी है। यदि वह किसी भी हालत में दूसरी जगह शिफ्ट होने को तैयार नहीं दिखता, तो उन्हें इसके फाइनेंशियल फायदों के बारे में बताएं।  ये याद रखना जरूरी है कि अभी सिर्फ आप परिस्थितियों का अनुमान लगाकर बात कर रहे हैं। इसलिए खुलकर अपनी राय रखना और फायदे-नुकसान पर बात करना जरूरी है। अपने पार्टनर को भी इसकी अहमियत बताएं।

4. Priorities क्या हैं

finances-4 शादी करने का मतलब होता है किसी के साथ लंबी जिंदगी की प्लानिंग। इसमें फाइनेंशियल प्लानिंग भी शामिल है। ऐसे में आपको एक-दूसरे की प्रायोरेटिज भी पता होनी चाहिए। क्या आपके लिए वीकली वेकेशन जरूरी है? आप लाइफ में क्या-क्या चाहती हैं। और आपका पार्टनर क्या चाहता है। इसमें घूमना-फिरना, फिल्म देखना, किसी खास जगह फार्म हाउस बनाना, कोई बिजनेस शुरू करना जैसे कोई भी प्लांस शामिल हो सकते हैं। पहले ही ये बातें पता होंगी, तो आगे की जिंदगी में एक-दूसरे को समझने और एक-दूसरे की मदद करने में आसानी होगी। इसके लिए आप अपने पार्टनर के साथ मिलकर टाइमलाइन बना सकती हैं।

5. पैरेंट्स की केयर

finances-5 हो सकता है आने वाले दस सालों तक आपको अपने पैरेंट्स की जरूरतों और चाहतों के बारे में सोचने की जरूरत न पड़े, लेकिन इसके बाद ऐसी स्थिति आ सकती है, जब उनकी सारी उम्मीदें आपसे जुड जाएंगी। इस बारे में भी अपने पार्टनर से बात करना जरूरी है। इसे लेकर अभी से तैयारी भी की जा सकती है। मां-पापा को सपोर्ट करना भी आपकी जिम्मेदारी है, लेकिन इसके चलते आपकी शादीशुदा जिंदगी की जिम्मेदारी कम नहीं हो जाती । इसी हिसाब से आपको प्लानिंग करनी होगी। इन जरूरतों को पूरा करने के लिए आप एक-दूसरे का साथ देंगे या फिर अलग-अलग अपने-अपने पैरेंट्स की जिम्मेदारी लेंगे, इस बारे में भी बात करें। Images: Shutterstock यह भी पढ़ें: अपनी शादी Plan करते वक्त हो जाती हैं ये 18 गलतियां! यह भी पढ़ें: ससुराल गेंदा फूल: प्यार के ये 6 तरीके बस यहीं मिलेंगे!!
Published on Dec 17, 2015
Like button
Like
Save Button Save
Share Button
Share
Read More
Trending Products

Your Feed