#MyStory: वो मेरा अच्छा दोस्त था लेकिन उस रात सब बदल गया | POPxo

#MyStory: वो मेरा अच्छा दोस्त था लेकिन उस रात सब बदल गया

Anonymous

Guest Contributor

वो सब एक दोस्त की बर्थडे पार्टी में हुआ। हमारी दोस्त लीला 25 साल की हो रही थी...drink करने की legal age के ग्रुप को ज्वाइन करने वाली वो हम सब में से आखिरी थी। तो ज़ाहिर है कि वो रात पीना-पिलाना भी कुछ ज्यादा ही होना था। हालांकि मैं ड्रिंक नहीं कर रही थी...एक हफ्ते पहले ही मेरा वायरल बुखार ठीक हुआ था और मैं अब भी एंटीबॉयोटिक दवाइयों पर थी और ऐसे में शराब पीना खतरे से खाली न होता।

जैसे जैसे रात बढ़ रही थी..बोतलें खाली हो रही थी और हम सब मस्ती में पागल हुए जा रहे थे। उन सब के बीच मैं पूरे होश में मैं पागलों की तरह डांस कर रही थी। उसी वक्त साहिल ने मुझसे flirting शुरू कर दी। मैंने भी उसकी flirting का जवाब flirting से ही दिया। बाकी दोस्तों में कोई इतना होश में ही नहीं था कि ये नोटिस कर सके कि हमारे बीच क्या चल रहा है..हमने इसका भरपूर फायदा उठाया।
why-i-had-sex

साहिल और मैं करीब सात साल दोस्त थे। हम दोनों की हमेशा से अच्छी पटरी खाती थी लेकिन हम दोनों कभी एक टाइम पर single नहीं रहे। इसलिए हम दोनों में से किसी ने भी खुद से इस रिश्ते को आगे बढ़ाने की कोशिश नहीं की। हम दोनों दोस्त ही बने रहे...अच्छे दोस्त।

लेकिन अब हम दोनों single थे। हम दोनों ही अभी-अभी एक रिलेशनशिप से निकले थे जिसमें हम दोनों का ही दिल टूटा था। उसकी girlfriend ने अपनी रिलेशनशिप को बचाने के लिए उससे झूठ कहा कि वो pregnant है लेकिन जब उसे पता चला कि साहिल बहुत ज्यादा अमीर नहीं है तो उसने साहिल के साथ न सिर्फ शादी करने का इरादा छोड़ा बल्कि उसे ही छोड़ दिया। मेरे boyfriend से मेरी रिलेशनशिप पांच साल पुरानी थी लेकिन उसने मुझे धोखा दिया था..दूसरी लड़कियों के लिए। और इस टूटे दिल के साथ हम दोनों उस पार्टी में थे जहां हर कोई खुश नजर आ रहा था....हम दोनों के सिवा!
“So, तुम कब जाने की सोच रही हो?” साहिल ने मेरे साथ डांस करते हुए ही पूछा।

“मैं रात को यहां रुक रही हूं...अब रात के तीन बजे मेरे parents मुझे घर में नहीं घुसने देंगे!” मैंने हंसते हुए जवाब दिया।

“फिर तो मैं भी रुक जाता हूं।” उसने कहा।

“लेकिन क्यों? मतलब लीला को क्या कहोगे?”

“मैं उसे बोल दूंगा कि मैंने बहुत ज्यादा शराब पी ली है और अब ड्राइव नहीं कर सकता।”

“लेकिन क्या सच में तुमने....?” मैंने पलटकर साहिल से पूछा। मुझे लग रहा था कि अब शायद हमारे बीच कुछ होने वाला है..और मैं बिल्कुल नहीं चाहती थी कि उसकी वजह शराब हो! मैं नहीं चाहती थी कि शराब के नशे में हम अपनी इस दोस्ती का रुख बदलें।

“नहीं यार...मैंने सिर्फ दो बीयर पी है और मैं पूरी तरह होश में हूं।”

मैंने चैन की सांस ली और मुस्कुराते हुए उसके साथ फिर से डांस करने लग गई।

कुछ देर बाद हमारे सारे दोस्त थक कर जाने लगे। लीला, धीरे धीरे उन सब को रुम में भेज रही थी जो आज रात उसके घर पर ही रुकने वाले थे। लीला साहिल को गेस्ट रुम में जाने को कहने ही वाली थी कि मैंने उसे रोक लिया...गेस्ट रुम में सारे लड़के रुक रहे थे। मैं लीला को कोने में ले गई और उसके कान में अपने मन की बात कही।

“क्या??? पक्का? तुम्हें पता है न तुम क्या कह रही हो…” उसने हैरान होकर पूछा। “मैं नोटिस कर रही थी कि पार्टी में तुम दोनों बहुत करीब थे लेकिन...इस बारे में तुम sure हो?”

“हां, मैं पूरी तरह sure हूं।,” मैंने जवाब दिया।“मुझे जरुरत है इसकी।”

“क्यों?”

“क्योंकि....मैं थक चुकी हूं ये सोच-सोचकर कि रोहन के साथ मेरा रिश्ता क्यों नहीं चला। मैं थक चुकी हूं खुद से यह पूछते हुए कि मैं और मेरा प्यार ही रोहन के लिए काफी क्यों नहीं था...उसे दूसरी लड़की की जरुरत क्यों पड़ी!!”

“और क्या यह reason काफी है?” लीला ने पूछा। “क्या होगा अगर साहिल के साथ भी रिश्ता नहीं चल पाया? या बन ही न पाया..?”

“मुझे इसकी परवाह नहीं,” मैंने कहा– और मैं सच बोल रही थी। मुझे सच में इसकी परवाह नहीं थी..मैं future के बारे में कुछ नहीं सोच रही थी..सोचना चाहती भी नहीं थी। मैं सिर्फ ये जानती थी कि बहुत टाइम बाद मुझे ऐसा feel हो रहा था कि मेरी भी किसी को जरुरत है..और जिसको मेरी जरुरत थी वो मेरा दोस्त था जिसे मैं पसंद करती थी..वो कोई अजनबी नहीं था जिसका मकसद सिर्फ मुझे physically पाना था। मुझे खुशी का अहसास हो रहा था।

“ठीक है, वो रुम ले लो।,” लीला ने कुछ सोचते हुए कहा। “शुक्र है मम्मी-पापा घर पर नहीं हैं वर्ना तो तुम मेरे लिए बहुत बड़ी मुसीबत खड़ी कर देती!”

मैं लीला के उस गुलाबी कमरे में चली गई..मैं इंतजार कर रही थी..साहिल का। मैं Nervous थी, excited भी। कुछ देर बाद दरवाजे पर खटखट हुई और साहिल कमरे में आया।

“मुझे यकीन नहीं हो रहा है कि तुमने लीला से ये सब कह डाला!” साहिल ने कहा, वो हंस रहा था, “मुझे समझ नहीं आया कि मैं हैरान हूं या embarrassed!”

“कुछ भी हो जाओ,” मैंने उससे कहा, “लेकिन यहां आओ...”

सुबह जब हम लीला के घर से निकल रहे थे तो मैं बहुत खुशी थी...इतनी खुश मैं बहुत बहुत टाइम बाद महसूस कर रही थी।

मेरे और साहिल के बीच चीजें ठीक नहीं हुई..बल्कि कहना चाहिए कि हमने कोशिश भी नहीं की। बल्कि हम दोनों ही शुरूआत से जानते थे कि ये सब क्या हो रहा है- दो दोस्त जो एक दूसरे की तरफ attract हुए....और एक हो गए। हमने उस रात को कभी डिस्कस नहीं किया, हमने एक दूसरे को फिर से अपनी ओर खींचने की कोशिश भी नहीं की, हमने डेटिंग भी शुरू नहीं की।

असल ज़िंदगी फिल्मों जैसी नहीं होती- अगर हम जबरदस्ती एक रिश्ता बनाने की कोशिश भी करते तो शायद हम में से कोई दूसरे को दुख पहुंचा देता। हम अपने टूटे हुए दिल के साथ अगर जबरदस्ती कोई रिश्ता बनाने की कोशिश करते तो वो और बुरा होता...हम दोनों के ही लिए। इसलिए हमने एक safer रास्ता चुना और पहले की ही तरह ‘सिर्फ दोस्त’ बने रहे।

लेकिन उस रात जो हुआ मुझे उसका कोई पछतावा नहीं है। हां वो one night stand था। लेकिन मेरे लिए वो उससे बहुत कुछ ज्यादा था- मेरे लिए वो एक ऐसा incident था जिसने मेरा ये यकीन वापस दिलाया कि मैं attractive हूं, और क्योंकि मेरा रिश्ता खत्म हो गया, मेरे लिए यह दुनिया खत्म नहीं हुई। मैं एक ऐसे शख्स के साथ रात बिताई थी जिसे मैं पसंद करती थी और जिसकी तरफ मैं attract थी, जो मेरे लिए भी बिल्कुल ऐसा ही महसूस करता था। मेरे लिए वो एक आज़ादी थी...अपने बारे में अच्छा सोचने की आज़ादी।

यह भी पढ़ें:  #MyStory: मेरा वो One Night Stand कुछ इस तरह था…

यह भी पढ़ें: #MyStory: मुझे मेरे बॉस से प्यार होने लगा था लेकिन…
Published on Dec 17, 2015
home messages notifications search hamburger menu
POPxo uses cookies to ensure you get the best experience on our website More info

Just Another Step!

SIGN IN TO POPxo WORLD

to see what other girls are talking about