Search page
Open menu

बाल Highlight करने जा रही हैं? तो इन 9 बातों का ध्यान रखें!

बालों के साथ कुछ करना चाहती हैं? बालों को highlight कराना काफी exciting होता है। लेकिन salon जाने से पहले कुछ खास बातों का ख्याल रखें। तो चलिये, अब पढ़िये क्या है वो ज़रूरी बातें!

1. जानें कि आप क्या करने जा रही हैं


Highlights का मतलब ये है कि आप अपने बालों के नैचुरल कलर से कुछ शेड लाइट कलर add करने जा रही हैं (और अगर आप डार्क कलर चाहती हैं तो उसे Lowlights कहते है)। कलर का इस्तेमाल इस पर निर्भर करेगा कि आप किस तरह की highlight चाहती हैं जैसे बोल्ड contrast के लिए आपके बालों पर दो कलर का इस्तेमाल भी हो सकता है। Highlights करवाते वक़्त बालों की रूट्स पर इसे ना करवाएँ वरना जब भी आपके बाल ग्रो होंगे, आपको फिर से salon जाकर उन्हें highlight करवाना पड़ेगा। Highlighting के बारे में पढ़ें, सेलिब्रिटीज़ के pictures देखें ताकि आपको ये क्लियर हो जाए कि आपको क्या चाहिए और आप कलर के बाद उसकी care के लिए टाइम निकालने के तैयार रहें।

Before-highlights-1


2. अपने नैचुरल कलर को पहचानें


पर्फेक्ट लुक के लिए अपने नैचुरल हेयर कलर व स्किन टोन को जानें और ये पता करें कि इनके साथ क्या अच्छा लगता है। Generally हम में से अधिकतर लोग या तो cool toned होते हैं जिनकी bluish-ब्राउन undertones होती हैं, या warm toned होते हैं जिनकी orange-yellow undertones होती हैं। अगर आपकी veins आसानी से नज़र आती हैं और आपकी कलाई (wrist) कुछ पीलापन लिए है तो आप cool toned हैं। और अगर आपकी veins इतनी आसानी से नज़र नहीं आती हैं तो आप warm toned हैं। हमारे शरीर में haemoglobin का लेवल तय करता है कि हम cool या warm toned हैं।


3. आपके कलर के साथ क्या अच्छा लगता है ये जानें


अगर आप cool toned हैं और आपका complexion मीडियम से डार्क है तो आपके overall कलर को डार्क कूल कहा जा सकता है। Ash-toned highlights आपके नैचुरल कलर को complement करके, आपके लुक में freshness की लेयर add करेगी।

अगर आप cool toned हैं और fair हैं तो आपके कलर को लाइट कूल कहा जा सकता हैं। आप पर ash-blonde highlights बहुत जचेंगी।

अगर आप warm toned हैं और आपका complexion मीडियम से डार्क है तो आपके overall कलर को डार्क वार्म कहा जा सकता है। आप caramel के shades के साथ contrast आज़मा सकती हैं, ये आपके लुक में dimension add करेगा।

और आखिर में लाइट वार्मआपका कलर ये है अगर आप fair और warm toned हैं। Neutral गोल्ड highlights आप पर कमाल लगेंगी।

before-highlights-3

अधिकतर इंडियंस डार्क कूल और लाइट कूल श्रेणी में आते हैं और इसलिए आपको उस आधार पर कलर का चुनाव करना चाहिए। ये सब अपनी जगह है.....लेकिन अगर आप इंडिगो ब्लू का सेमी-परमानेंट शेड आज़माना चाहती हैं तो शेड कार्ड को साइड में रखें और बेहिचक उसे करवाएं! ये अपने आप को एक्सप्रेस करने का भी जरिया है – इसलिए नियमों को follow करना ज़रूरी नहीं है।

4. कंजूसी ना करें


अपनी city के बेस्ट colourist / हेयर स्टाइलिस्ट से ही अपने बाल कलर करवाएँ। खासकर अगर आप ये पहली बार कराने जा रही हैं। अपनी दोस्तों से अच्छे प्रॉफेश्नल के बारे में जानकारी लें, ना कि salon chains की। हेयर एक्सपर्ट से इसके process व कलर शेड के बारे में अच्छे से discuss consult करें। ये आपको अपने आप पर और अपने highlighting के डिसिशन पर confidence देगा। हम आपको घर पर ये करने की सलाह नहीं देंगे, लेकिन अगर आप इसे घर पर करना ही चाहती हैं तो प्लीज, एक अच्छे highlighting किट पर खर्च करें और precise एप्लिकेशन के लिए टूथब्रश का इस्तेमाल करें।

5. ट्रेंड्स में क्या चल रहा है


Highlights लंबे समय तक रहते हैं इसलिए इन्हें कराने से पहले रिसर्च ज़रूर कर लें। Foil highlighting जो सबसे आम तरीका है, इसके अलावा भी 3 और तरीके हैं highlighting कराने के। इनमें से एक तरीका है “balayage” जो West में बहुत प्रचलित है। इसमे कलरिस्ट हाथों से highlights पेंट करता है, जिससे वो ज़्यादा नैचुरल लगते हैं। एक और तरीका  popular है, वो है “somber”इसमे एन्ड्स पर highlights tipped होती हैं और रूट्स पर आते-आते वो बालों के कलर में एकदम ब्लेन्ड हो जाती हैं। इसलिए ट्रेंड में क्या चल रहा है उसका ध्यान रखें ताकि आपको सबसे बेहतर लुक मिल सके। ☺

before-highlight-5


6. Highlight कराने से पहले बाल हों स्वस्थ


बालों पर किसी भी प्रकार का कलर उनको कुछ हद तक damage करता ही हैं फिर चाहे आप बेस्ट क्वालिटी का प्रॉडक्ट ही क्यो न इस्तेमाल कर रही हो। चूंकि आप रूट्स को कलर नहीं करती हैं इसलिए highlights बालों को इतना नुकसान तो नहीं पहुंचाते हैं, लेकिन किसी भी तरह का कलर बालों को कमजोर बना ही देता है। इसलिए highlights कराने से पहले अपने बालों की अच्छे से देखभाल करें। Highlights कराने के कुछ महीने पहले इन्हें तेल मालिश, हेयर स्पा या हेयर मास्क से ट्रीट करते रहें, ताकि जब आप highlight करवाये तब आपके बाल स्वस्थ हों और वो कलर के असर को झेल सकें!

7. बहुत ज़्यादा लाइट शेड ना चुनें


जी हाँ, हम ये पहले ही बता चुके हैं लेकिन एक बार फिर बता देते हैं। अगर आप एकदम ही अलग कलर चुन रही हैं – पर्पल, ब्लू, हरा या ऐसा कोई रंग – लेकिन अगर आप ऐसे कलर नहीं चुन राय हैं तो आपको अपनी स्किन टोन जितना लाइट शेड कभी नहीं चुनना चाहिए। इससे आप एकदम बीमार और डल लगेंगी। आपको अपने बालों के नैचुरल कलर से 3 शेड से ज़्यादा लाइट शेड नहीं चुनना चाहिए – क्योंकि ज़्यादा लाइट शेड mismatched और patchy लगता है।

highlights-not-too-light-


8. कितने बाल highlight करवाना चाहती हैं


एक बार जब आपको पता हो कि आपको कौन सा कलर चाहिए, तो आपको ये भी पता होना चाहिए कि आप अपने कितने बालों को highlight कराना चाहती हैं – सारे या थोड़े से? कुछ लोग चेहरे को फ्रेम करने व brightening इफैक्ट के लिए चेहरे के आस-पास highlights करवाते हैं। वहीं कई लोग आगे से लेकर पीछे तक सारे बाल highlight करवाते हैं, ऐसा अधिकतर ग्रे हेयर को छुपाने के लिए किया जाता है। तो इसलिए highlight करवाने से पहले ये तय कर लें कि आप कितने बाल कलर करवाना चाहती हैं और क्यों।


9. Highlights की देखभाल है ज़रूरी


Highlights कराने के बाद बालों की देखभाल, ज़्यादा नहीं तो कम से कम उतनी तो करें जितनी आप कलर करवाने से पहले करते थे। कम से कम हफ्ते में एक बार बालों को डीप कंडिशन ज़रूर करें और ऐसे हेयर प्रोडक्टस चुनें जो कलर friendly हों यानि जो खास कलर किए हुए बालों के लिए बने हों। बालों को ज़्यादा ना धोए और उन्हें स्टाइल करने से पहले हेयर protectant का इस्तेमाल करें।  

highlight-9

तो Gals.....आपको Happy Highlights!!  

यह स्टोरी POPxo हिन्दी के लिए Manali Bhatnagar ने लिखी है।

Images: shutterstock.com
Published on Nov 23, 2015
POPxo uses cookies to ensure you get the best experience on our website More info
Never miss a heart!

Set up push notifications so you know when you have new likes, answers, comments ... and much more!

We'll also send you the funniest, cutest things on POPxo each day!