Search page
Open menu

#MyStory: मेरा वो One Night Stand कुछ इस तरह था…

बड़े होते हुए हमें सेक्स के बारे में बताने के लिए फिल्मों में या फिर हमारे अपने परिवार के बड़े लोग हमें बहुत सफाई से कहते हैं कि जब दो लोग बेइंतहा प्यार में होते हैं और एक दूसरे के लिए पूरी तरह समर्पित होते हैं तब....हां शायद तभी वो इतने करीब आते हैं...

लेकिन हमारे मामले में ये बात लागू नहीं होती थी...हम प्यार में नहीं थे, हम साथ भी नहीं थे..लेकिन हम दोनों दो अलग अलग इंसान जरूर थे।

जो हुआ वो कुछ ऐसा नहीं था जो मेरे लिए बहुत आम हो...मैं ऐसा अक्सर नहीं करती और मैं ये बात सिर्फ इसलिए भी नहीं कह रही हूं क्योंकि मैंने जो किया मैं उस पर कोई सफाई देना चाहती हूं...मैं ऐसा इसलिए कह रही हूं क्योंकि यह सच है। मैं सिर्फ अपनी comfort zone से बाहर आ रही थी और कुछ ऐसा अनुभव करने जा रही थी जो मैं नहीं जानती थी कि मैं सारी उम्र याद रखूंगी।

वो नए साल की शाम थी। मैं अपनी cousin के साथ उसके दोस्त की एक पार्टी में गई। पार्टी एक फार्म हाउस में थी जहां मैंने उसे पहली बार देखा। वो कोने में bar टेबल पर खड़ा हुआ था और whisky पी रहा था। उसने भी मुझे देखा और कुछ देर के लिए हमारी नजरें मिलीं। उसने मुझे देखते हुए अपना ग्लास उठाया और मैं भी बदले में मुस्कुरा दी।

one-night-stand-4

वो मुझे लगातार देखता हुआ मेरी ओर बढ़ने लगा..इस बीच उसने एक बार भी मुझसे अपनी नजरें नहीं हटाईं...मैंने भी नहीं हटाईं। हमारी आंखें जैसे बातें कर रही थी..वो बातें जो अब तक हमारे होंठों के बीच शुरू भी नहीं हुई थी।

“क्या मैं आपके लिए एक ड्रिंक ला सकता हूं?” मेरे पास आते ही उसने मुझसे पूछा। उसकी आवाज़ में एक अजीब सा जादू था।

“मैं एक ले चुकी हूं..थैंक्स,” मैंने कहा।

पार्टी चल रही थी, हमने साथ में डांस किया। उसने और मैंने नहीं...बल्कि मैंने, मेरी cousin और उसके दोस्तों ने..सबने एक साथ। डांस करते हुए मेरी नज़र जितनी बार भी bar टेबल की तरफ गई वो वहीं था...और वो भी जान गया था कि मैं जानती हूं कि वो वहीं है…

आखिरकार रात के 12 बजे। मैं ऊपर के कमरे की तरफ जाने लगी जहां मेरा बैग था। मैं अपने मम्मी-पापा को फोन करके उन्हें नए साल की विश देना चाहती थी। मेरे पीछे-पीछे वो भी ऊपर आने लगा। मैं झूठ नहीं कहूंगी...मैंने कमरे में कुछ देर इंतजार किया ये देखने के लिए कि क्या वो भी कमरे में आता है....पर वो नहीं आया।

मेरी बैचनी बढ़ गई। अगर उसे कमरे में नहीं आना था तो उसने सीढ़ियों पर मेरा पीछा क्यों किया?
मैंने देखा वो वहीं बरामदे में खड़ा है। उसके हाथ में सिगरेट है। उसने मुझे देखा...मेरी ओर बढ़ा..और बिना किसी कोशिश के उसने मुझे दीवार की ओर धकेल दिया...हम दोनों ने एक दूसरे को kiss किया.. हमारी सांसें एक दूसरे की सांसों में समा रही थी...बेडरूम साथ में ही था.. शायद इसलिए हमारे कदम बढ़ने में भी कुछ समय नहीं लगा।

मुझे अब तक उसका नाम तक नहीं पता था।

one-night-stand-1

हम दोनों सेफ थे। मैंने शराब पी हुई थी लेकिन मैं होश में थी। उन intimate moments के बाद वो बेड से उठकर बाथरुम में चला गया...सबूत को मिटाने। मैं भी बेड से उठी..इस बात से अनजान कि अब आगे क्या होने वाला है। वो आया और मेरे बिना कुछ कहे कपड़े पहनने में मेरी मदद की।

पता नहीं क्यों..पर मुझे उसका ये करना बहुत अच्छा लगा। शायद कई बार ये पढ़ चुकी थी कि सेक्स से पहले आप एक दूसरे के कपड़े उतारने में मदद करते हो लेकिन सेक्स के बाद आप सिर्फ अपने कपड़े पहनते हो।

जो भी हो लेकिन मेरे दिमाग में उसके इस छोटे से gesture के बारे में कई बातें आ रही थी। आखिर क्या मतलब हो सकता है इसका...क्या वो मुझे पसंद करता है? जो हुआ क्या वो अचानक से हुए किसी हादसे से कुछ ज्यादा था? जो हुआ वो ठीक हुआ? क्या उसने भी enjoy किया? क्या मैंने enjoy किया? आखिर उसका नाम क्या है?

हम दोनों ने कुछ बात नहीं की और नीचे आ गए।

मैं वापस पार्टी में शामिल हो गई..किसी ने भी नोटिस नहीं किया कि मैं कुछ देर के लिए पार्टी से गायब भी थी। सब अपनी मस्ती में चूर थे। कुछ लोगों ने खाना शुरू कर दिया था। मैं दुबारा अपनी कज़न के पास गई और उसकी स्कूल की कुछ पुरानी दोस्तों के साथ बात करने लगी।

अचानक वो भी वहां आ गया और हम सब के साथ ग्रुप में शामिल हो कर बातें करने लगा।

“ओह! ये समीर है..ये घर इसी का है,” मेरी कज़न ने बताया...मुझे अच्छा लगा सुनकर...तो उसका नाम समीर है!

“और ये रेशू है, समीर की fiancée...उसकी मंगेतर, मेरी अच्छी दोस्त” ये कहते हुए मेरी कज़न ने ग्रुप की एक लड़की तरफ इशारा किया जिससे हम बात कर रहे थे।

कुछ सेकेंड के लिए जैसे मेरी सांसें बंद हो गई। मेरी आंखें उसकी तरफ उठी, हम दोनों की आंखें मिली और उसने एक बार फिर अपना ग्लास मेरी ओर उठा दिया। “एक नई शुरूआत के नाम!” अपनी मंगेतर को धोखा देने वाले उस शख्स की आंखें उस वक्त भी मेरे ऊपर से नहीं हटी।

हम सबने उसके बाद और मस्ती की...खूब डांस किया। किसी ने भी मेरी चुप्पी को नोटिस नहीं किया।
कुछ देर बाद मेरी कज़न ने कहा कि वो घर जाना चाहती है, मैं भी उसके साथ उस घर से बाहर आ गई। घर आने के बाद मैंने खुद को कमरे में बंद कर लिया।

one-night-stand-3

मेरा मन कर रहा था कि मैं जोर से रोऊं लेकिन मेरी आंखों में पानी नहीं था। मैं एकटक छत की ओर देख रही थी...पंखें पर पड़ती चांद की रोशनी एक अजीब की परछाई बना रही थी...मेरा मन एकदम खाली हो चुका था। मैंने शराब पी हुई थी लेकिन मैं पूरी तरह अपने होथ में थी। मैं बहुत थका हुआ महसूस कर रही थी...यह थकान शायद सेक्स के बाद होने वाली थकान थी...वन नाइट स्टैंड की थकान?

उसने कभी फोन नहीं किया, हम दुबारा कभी नहीं मिले...रेशू से उसकी शादी इसी साल की 31 दिसंबर को है।
Published on Nov 23, 2015
POPxo uses cookies to ensure you get the best experience on our website More info
Never miss a heart!

Set up push notifications so you know when you have new likes, answers, comments ... and much more!

We'll also send you the funniest, cutest things on POPxo each day!