सेक्स करना ज़रूरी है, पर क्या आपको पूरा ज्ञान है? | POPxo
Pia
cross
Book a cab
Order food
View your horoscope
Gulabo - your period tracker
Show latest feed
Filter Icon   I want to see...
Filter Icon   I want to see...
Select your filters
Clear all filters
×
Categories
  • All
  • fashion
  • beauty
  • wedding
  • lifestyle
  • food
  • relationships
  • work
  • random
  • sex
  • hindi
Quick Actions
  • All
  • story
  • video
  • shop
  • question
  • poll
  • meme
Apply
Home > Hindi > Relationships > Sex
सेक्स करना ज़रूरी है, पर क्या आपको पूरा ज्ञान है?

सेक्स करना ज़रूरी है, पर क्या आपको पूरा ज्ञान है?

सभी सेक्सुअली एक्टिव हैंकम से कम दुनिया हमें ऐसा विश्वास दिला ही देती है। लेकिन सच्चाई ये है कि हम में से कुछ लोग सेक्स करना तो चाहते हैं पर सेक्सुअली एक्टिव नहीं हैं क्योंकि हमें सेक्स की जानकारी नहीं है और जानकारी कहाँ से हासिल करें ये भी पता नहीं है। और कुछ लोग ऐसे हैं जो सेक्स में शामिल तो हैं लेकिन फिर भी सेक्स के बारे में  कंफ्यूज हैं। क्या ये सुरक्षित हैक्या ये नॉर्मल हैक्या ये सही हैआखिर इसका मतलब क्या हैये कुछ ऐसे सवाल हैं जो हमें कभी ना कभी परेशान ज़रूर करते हैं। इसलिए हम आपके लिए लाए हैं सेक्स के बारे में कुछ ऐसे सवाल जिनका जवाब सभी जानना चाहते हैं!   जानें सेक्स से जुड़े अपने सभी सवालों के जवाब   sex-top

1. आखिर ये "Bases" क्या होते हैं?

ये सारा अमेरीकन टीवी और फिल्मों का कसूर है। जब हमारे यहां बेसबॉल ही नहीं खेलते है तो हमें इसका मतलब कैसे पता होगा? इनके बारे में जानना सेक्स जानकारी की ओर पहला कदम है| पहला बेस:किसिंग! दूसरा बेस: बूब्स को छूना। तीसरा बेस: यौनांगों का कॉन्टेक्ट होना। होम रन: इंटरकोर्स होना।  

2. क्या ओरल सेक्स भी सेक्स करना ही होता है?

जी हां! होता है। ये अंतरंग होता है और इसमें भी शरीर के फ्लूड्स का आदान-प्रदान होता है। तो ये सेक्स है।  

3. बिना कोंडोम  के सेक्स करना कब सुरक्षित होता है?

sex-3 कभी नहीं! कम से कम तब तक तो नहीं जब तक आप कमेटेड रिलेशनशिप (एक ही पार्टनर के साथ) में ना हों और आप व आपके पार्टनर दोनों ने हाल ही में टेस्ट करवाया हो और आप दोनों एकदम हेल्दी हों। लेकिन अगर आप डॉक्टर की सलाह के अनुसार ओरल कॉन्ट्रासेप्टिव पर नहीं हैं तो इसमें भी प्रेगनेंसी का रिस्क तो रहता ही है (लेकिन अगर आप बेबी के लिए ट्राय कर रही हैं तो बिना कंडोम सेक्स करना ठीक है|)

4. क्या पहली बार इंटरकोर्स करने पर भी प्रेगनेंट हो सकते हैं?

इसका छोटा सा जवाब है: हां। और लम्बा जवाब है: ये थोड़ा मुश्किल है। ये निर्भर करता है कि आप अपनी साइकिल के किस फेज़ में हैं (फिर चाहे ये आपका पहली बार हो या सौवीं बार) और उस समय आप कितनी fertile हैं। लेकिन ये बहुत ही अनिर्धारित चीज़ हैखासकर उन लेडीज़ के लिए जिनको अनियमित पीरिएड्स की शिकायत रहती है। इसलिए छोटा जवाब ही बेहतर है।  सेक्स की जानकारी के साथ प्रोटेक्शन की जानकारी बेहद ज़रूरी है|

5. अगर पार्टनर क्लाइमेक्स से पहले विदड्रॉ कर ले तो क्या प्रेगनेंसी रोकी जा सकती है?

sex-5 यह सेक्स करने का तरीका है जो बहुत लोग अपनाते हैं, पर क्या ये सेफ है? यदि आपका पार्टनर क्लाइमेक्स से पहले विदड्रॉ  (स्पर्म रिलीज़ करने से पहले पेनिस निकाल लेना) कर लेता है तो प्रेगनेंसी का खतरा बहुत हद तक कम हो जाता है, लेकिन ये फिर भी 100% सुरक्षित नहीं है। क्योंकि शुरूआत (ये तब रिलीज़ होता है जब पुरुष उत्तेजित होता है) में भी स्पर्म की थोड़ी बहुत मात्रा होती है। और लेडीज़ ज़रा ये सोचिए- आपका पार्टनर अपनी ज़िन्दगी (यूँ कहिए हर इंसान की ज़िन्दगी) के सबसे पैशनेट लम्हों में अपने आप को कंट्रोल करे, क्या इस बात पर आप अनियोजित प्रेगनेंसी का खतरा उठा सकती हैं? इसलिए सुरक्षित रहें और कोंडोम यूज़ करके सेक्स करना ही ठीक है|

6. क्या पिल्स पर निर्भर रहना सुरक्षित है?

sex-6 अगर ये आपके डॉक्टर की  सलाह पर आधारित है तो हाँ यह सेक्स करने का तरीका बिल्कुल सुरक्षित है। लेकिन ध्यान रखें कि आप अपने डॉक्टर को सही जानकारी और अपनी सही मेडिकल हिस्ट्री  बताएं। ये भी बताएं कि आपका मासिक चक्र कितना नियमित है और आपको थाइॉइडडायबिटीज या PCOD जैसी कोई बीमारी तो नहीं है। डॉक्टर से कुछ भी छुपाना आपकी सबसे बड़ी गलती और बेवकूफी होगी- आखिर आपकी सेहत और सुरक्षा अनमोल है।  डॉक्टर से सब क्लीयर करना ही सेक्स जानकारी की ओर पहला कदम है|

7. क्या मैं मॉर्निंग आफ्टर पिल ले सकती हूं?

सिर्फ तभी जब कोई इमरजेंसी हो जैसे कोंडोम ब्रेक हो गया हो या किसी और वजह से आपने कोई प्रीकॉशन ही न लिया हो। इसे मॉर्निंग आफ्टर पिल ज़रूर कहते हैं लेकिन इसके नाम पर ना जाएं और इसे सिर्फ और सिर्फ इमरजेंसी में ही इस्तेमाल करें। दरअसल ये हॉर्मोस का डोजॉ होता है जो आपकी ओवरी से एग के निकलने के समय को आगे बढ़ा देता है, जिससे वो स्पर्म द्वारा फर्टिलाइज़ नहीं हो पाते हैं। लेकिन आपके रेगुलर साइकिल में ऐसा ज़बरदस्ती का बदलाव आगे के लिए हेल्दी नहीं होता है और अगर ऐसा बार-बार किया जाए तो आपके शरीर में कई हार्मोनल प्रॉब्लम्स हो सकती हैं। इसलिए इसे रेगुलर कॉन्ट्रासेप्टिव  की तरह बिल्कुल भी यूज़ नहीं करना चाहिए। हमेशा ध्यान रखें कि इसे लेने की भी तय सीमा होती है। आई-पिल, (जो एक इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव है) जो भारत में सभी जगह आसानी से मिल जाती है, वैसे तो उसे अनप्रोटेक्टिव सेक्स करने के बाद, 24 घंटो के अंदर-अंदर ले लेना चाहिए, नहीं तो ज़्यादा से ज़्यादा 72 घंटो के अंदर तो लेना ही चाहिए- ताकि वो असर कर सके। लेकिन इसके भी साइड इफेक्ट होते हैं।

8. सेक्स के दौरान दर्द होता है। क्या ये सामान्य है?

हां भी और ना भी। बहुत सी लेडीज़ को सेक्स करने के दौरान कुछ असहज महसूस होता है। दर्द तभी होता है जब वेजाइना गीली नहीं होती है या आपको लेटेक्स से एलर्जी हो- इसके लिए वाटर-बेस्ड  लुब्रीकेंट का इस्तेमाल करें- ऑयल बेस्ड न प्रयोग करेंक्योंकि ये कोंडोम को छेददार बना देता है जिससे उसके लीक या ब्रेक होने के आसार बढ़ जाते हैं। आप नॉन-लेटेक्स कोंडोम भी ट्राय करें। लेकिन अगर आप काफी समय से सेक्सुअली एक्टिव हैं और पर्याप्त लुब्रीकेशन के बाद भी दर्द लगातार रहता है तो आपको अपनी गाइनोकॉलोजिस्ट को तुरंत दिखाना चाहिए और अपने टेस्ट करवाने चाहिए। यूटीआई यानि यूरिन इन्फेक्श और ईस्ट इन्फेक्शन भी जलन का कारण हो सकते हैं या फिर ये वेजाइना की किसी दूसरी प्रॉब्लम के संकेत हो सकते हैं।

9.क्या बिना इंटरकोर्स के भी एसटीडी हो सकती है?

sex-9 दुर्भाग्यवश हां। आपको सिर्फ किस करने पर भी STD यानि सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिज़ीज़ हो सकती है और इसकी सबसे कॉमन बीमारी है हर्प्स - क्योंकि जिस इंसान को ये एक बार भी हुआ होता हैवो इसका वायरस पूरी ज़िन्दगी साथ लेकर चलता है और अगर आपके मुँह में कोई कट या खुला ज़ख्म है तो किस करते वक़्त ये वायरस थूक के ज़रिये आप में पहुंच जाएगा। हर्प्स, गनोरिया और क्लैमायडिया जैसी बीमारियां ओरल सेक्स करने से भी हो सकती हैं। बिना पेनीट्रेशन के जेनिटल कॉन्टेक्ट (जिसे कई लोग "ड्राय हंपिंग भी कहते हैं) भी ये बीमारियां हो सकती हैं-  क्योंकि जब उत्तेजना होती है तो फ्लूड निकलता (और एक्सचेंज) ही है। तो सेक्स जानकारी के लिए STDs के बारे में जानें और खुद की व अपने पार्टनर की नियमित जांच कराएं ताकि आप दोनों सुरक्षित रहें। 

10. लोग STD की जांच कैसे कराते हैं? मुझे ये कब करानी चाहिए?

इसका सबसे आम तरीका है खून की जाँच। अधिकतर अच्छी पैथ लैब में स्टैन्डर्ड STD टेस्टिंग पेनल होते हैं। ये सभी कॉमन STDs को कवर करते हैं। लेकिन कम कॉमन STDs के लिए आपको साल में एक बार डॉक्टर से जांच और पैप-स्मीयर  ज़रूर करवाने चाहिए। जहां तक कब करवाने का सवाल है: जब भी आप किसी नए पार्टनर के साथ सेक्स करना चाहते हों या कर चुके हों तब आपको जांच करवानी चाहिएक्योंकि एक्सपोज़र का खतरा बढ़ जाता है।

11. क्या मास्टरबेशन (हस्तमैथुन) सामान्य है?

जी हां, बिल्कुल! और ये आदमी और औरत दोनों के लिए सामान्य है। उत्तेजना महसूस करना शारीरिक संकेत है किसी एक इंसान को चाहने का और इसलिए अपने आप को छूकर (जिससे आपको अच्छा महसूस हो) क्लाइमेक्स तक आना बिलकुल नॉर्मल है। 

12. मुझे ऑर्गेज़्म कैसे हो सकता है?

sex-12 अलग-अलग लोगों के लिए अलग-अलग चीज़ें काम करती हैं। कई लकी लोग आसानी से क्लाइमेक्स तक पहुंच जाते हैं तो कई लोगों को देर तक स्टिमुलेशन या एक्टिविटी की ज़रूरत पड़ती है। सबसे ज़रूरी बात है कि आप अपने पार्टनर के साथ अच्छा महसूस करें और उससे डिसकस करें कि क्या चीज़ें आपको उत्तेजित करती हैं और क्या चीज़ें आपको पसंद नहीं हैं। ये ऐसा एरिया है जहां आपको ही नई-नई चीज़ें ट्राय करनी होगी और देखना होगा कि क्या आपके लिए बेस्ट है- इसमें कोई भी आपको एकदम सटीक निर्देश नहीं दे सकता है।  अगर आपके पास कुछ और सवाल हैं जिनका जवाब आपको चाहिए तो हमें ज़रूर लिखें। हम ज़रूर सेक्स जानकारी हासिल करने में आपकी हेल्प करने की कोशिश करेंगे!
Published on Oct 20, 2015
Like button
Like
Save Button Save
Share Button
Share
Read More

Your Feed