Search page
Open menu

Newly-Wed? इस तरह संभालें अपने Finances को!

शादी – जिंदगी का एक खूबसूरत पड़ाव और नई जिम्मेदारियों की शुरुआत भी। जब तक शादी के रस्मो-रिवाज़ चलते रहते हैं, मन सपने की किसी ज़मीन पर नाचता रहता है लेकिन real problems तब आती हैं जब शादी के बाद आपका सामना realities से होता है। कल तक जो रात बेफिक्री से बीत रही थी अब उसमें ‘कल क्या करना है और कैसे करना है’ की चिंता भी शुमार हो जाती है और यहीं से शुरू होती है असली फ़िक्र फाइनेंस मैनेज करने की... कैसे रह सकती हैं आप खुश और पैसों की problems से बेफिक्र? आइये जाने वो preliminary steps जो आपको बिना किसी चिंता के शादी के बाद होने वाली money management की प्रॉब्लम से free रख सकते हैं...

1. Pre-प्लानिंग में रखें यकीन


finance-1

कपड़े, जेवर और डेकोरेशन पर शादी के दौरान हुए खर्च को अगर इग्नोर भी कर दिया जाए तो इसके एकदम बाद हनीमून, हाउस सेटअप, हाउस डेकोरेशन जैसे खर्च सामने खड़े होते हैं। इसके लिए बहुत ज़रूरी है कि आप पहले से ही अपनी बजट प्लानिंग शुरू कर दें। कहाँ कितना खर्च होगा, इसका हिसाब-किताब रखना आपकी मोनेटरी इश्यूज को कम करने में काफी मददगार साबित होगा। बजट बनाएं और उस पर टिके रहें। यानी सोफा सेट का बजट अगर 10 हजार तय किया है तो उससे ज्यादा इस पर खर्च न करें।

2.एक ही दिन में न बसायें संसार


finance-2

अभी तो शादी हुई है और आपमें एक दूसरे का साथ लाइफटाइम निभाने की चाहत है फिर ज़ल्दी किस बात की है? माना, टेक्नोलॉजी के इस ज़माने में बहुत सारी चीज़ें चाहिए होती हैं एक comfortable life के लिए । लेकिन जब तक आपके पास एक सॉलिड बजट नहीं है, आप एक साथ ढेर सारी चीजों की खरीददारी न करें। इसे आगे के महीनों के लिए भी तय कर सकते हैं। जैसे अगर आपने टीवी इस बार खरीदा तो फ्रिज की खरीद को next month के लिए schedule कर सकती हैं या फिर फर्नीचर को आने वाले किसी विशेष मौके के लिए…

3. महीने भर के खर्च को प्लान करें


finance-3

‘प्लानिंग’... जी हाँ, एक अच्छे फाइनेंस मैनेजमेंट का बेस प्लानिंग ही होता है। कैसे चलाना है महीने को कि इसके अंतिम दिन तक आपकी जेब खाली न हो? इसके लिए आप अपने पूरे महीने के खर्च को डिफरेंट केटेगरी में डाल कर पहले से decide कर लें। जैसे राशन, पैट्रोल, हाउस-कीपिंग, सोसायटी बिल...इससे आपको न सिर्फ खर्च करने में आसानी होगी बल्कि बचत का रास्ता भी बनेगा…

4. EMI पर न निर्भर हो जाएं


finance-4

easy monthly Installment, आजकल emi को एक easy option के तौर पर देखा जाता है। तमाम banks से लेकर, आपका अपना ऑफिस भी अब EMI की facility देता है। ज्यादा मंहगी चीज़ों को महीने के छोटे-छोटे ब्रेकअप में तोड़कर अपने घर ले आना बड़ा ही अच्छा सौदा नज़र आता है लेकिन अगर आप गौर करेंगे तो प्रोसेसिंग फी और high-monthly इंटरेस्ट रेट जैसे hidden cost देख कर डर जायेंगे। हालांकि, emi पूरी तरह से एक बुरी चीज़ नहीं है लेकिन यहाँ self-control की काफी ज़रूरत है।

5. बचत को अपनी आदत बनाएं


finance-5

अक्सर देखा जाता है कि शादी के तुरंत बाद कपल्स बचत को लेकर बेफिक्र रहते हैं। शादी में मिले ढेर सारे gifts के साथ ही cash-gifts उन्हें बेहिसाब खर्च करने के लिए encourage करते हैं। हां ये जिंदगी का मज़ा उठाने का सबसे खूबसूरत लम्हा होता है लेकिन अगर आपने अपने खर्च पर अभी control नहीं किया तो आगे काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इसका सबसे अच्छा उपाय यही है कि regular बचत को अपनी फाइनेंस प्लानिंग में शामिल करें ताकि आपकी ये खुशियां हमेशा यूं ही बने रहीं।

Images: Shutterstock

POPxo की अन्य हिन्दी स्टोरीज़ के लिए देखें: POPxo हिन्दी
Published on Oct 06, 2015
POPxo uses cookies to ensure you get the best experience on our website More info
Never miss a heart!

Set up push notifications so you know when you have new likes, answers, comments ... and much more!

We'll also send you the funniest, cutest things on POPxo each day!