Search page
Open menu

ये 10 बातें जानते ही आप Arrange Marriage को कहेंगी 'YES'!

Arranged marriage ! सुनते ही ढेर सारे ताम-झाम और रस्म-रिवाज दिमाग में आ जाते हैं...और ये ख्याल परेशान करने लगता है कि अचानक से कैसे किसी एकदम अनजान इंसान के साथ हम अपनी पूरी जिंदगी बिता सकते हैं! लेकिन तमाम डर और doubts के बावजूद अरेंज मैरिज हमारे देश के युवाओं की first choice बनती जा रही है। क्या ऐसा इसलिए है कि youngsters इसमें comfort feel करने लगे हैं या कुछ और ! खैर, हमारे मम्मी-पापा और हमारे मम्मी-पापा के मम्मी पापा सदियों से अरेंज मैरिज पर ही भरोसा करते आए हैं। तो दादी-मामी-चाची, बुआ और दूसरे रिश्तेदारों की ओर से बताए जा रहे मैरिज प्रपोज़ल्स पर आप क्यों गौर कर सकती हैं जानिए हमसे-

1. केवल हमारी जिम्मेदारी नहीं


arrange marriage 1

अरेंज मैरिज का आॅप्शन चुनने पर रिश्ते की नींव मजबूत करने और उसे उम्रभर निभाने की जिम्मेदारी केवल हमारे कंधो पर नहीं रह जाती। Parents और परिवार का पूरा involvement इस रिश्ते में होता है। ऐसे में सब मिलकर इसकी नींव मजबूत बनाते हैं। अपने पार्टनर के बारे में हर छोटी-बड़ी बात हमें उन लोगों से पता चलती है जो सास-ननद-देवर-जेठानी जैसे स्वीट रिश्तों से हमसे जुड़े होते हैं। इस प्यारी शेयरिंग से इमोशनल bonding मजबूत होती है।

2. सात फेरों की पार्टनरशिप


arrange marriage 2

शादी से जुड़ी हर छोटी-बड़ी रस्म की जानकारी परिवार से हमें मिलती है। दोनों ही परिवारों के सदस्य इस जिम्मेदारी को निभाने के लिए तैयार होते हैं। हमें हमारे होने वाले पार्टनर का पास्ट पता होता है परिवार के जरिए! उनके बचपन की शरारतें और पसंद नापसंद सबकुछ। मतलब सात फेरे तो हमारे होंगे लेकिन उन्हें निभाने की जिम्मेदारी पूरा परिवार उठाता है यानी future के इकोनाॅमिकल मामले और इमोशनल सिक्योरिटी की फुल टू गारंटी!

3. सबको पता भी होता है और नहीं भी


arrange marriage 3

यहां बात हो रही है कोर्टशिप पीरियड की। जाहिर तौर पर दोनों का ही परिवार जानता है कि होने वाले दुल्हा-दुल्हन की बातें-मुलाकातें होती हैं पर कोई पूछता नहीं! रोकता नहीं और टोकता भी नहीं! यानी छिपकर मिलने का अपना मजा और पकड़े जाने पर नो सजा !

4. मजबूत बैक बोन


arrange marriage 4

भले ही यह रिश्ता पैरेंट्स ने जोड़ा हो पर लाइफ में अप एंड डाउंस तो आते ही हैं ! लाइफ के इस टफ फेज़ में पैरेंट्स और इन-लाॅज मजबूती के साथ हमारी दिक्कतों को सुलझाने के लिए तैयार रहते हैं। यानि अपनी किसी भी मुश्किल में आप अकेले नहीं होते।

5. समझौते बोझ नहीं लगते


arrange marriage 5
नो डाउट लव मैरिज में हमारी एक्सपेक्टेशन कहीं ज्यादा होती हैं जबकि अरेंज मैरिज में हम लाइफ स्टाइल में होने वाले बहुत से बदलावों को अपनाने के लिए शुरू से ही तैयार रहते हैं। एक-दूसरे की आदतों को अपनाने की कोशिश करते हैं। और यह attitude प्यार की गहराई को बढ़ाता है।

6. परिवार से शादी


arrange marriage 6

अरेंज मैरिज करने पर हमारी शादी एक इंसान से नहीं बल्कि परिवार से होती है क्योंकि हर फैमिली मेंबर की खुशी और दुख हमारे होते हैं। होने वाला दूल्हा दुल्हन के परिवार के साथ समय बिताता है और दुल्हन अपने नए परिवार को समझने की कोशिश करती है। आखिर आने वाले दिनों में किसी भी घर की पूजा सत्संग और पार्टीज दोनों परिवारों की साझा जिम्मेदारी होगी।

7. Rituals रहेंगें सेम टू सेम


arrange marriage 7

अरेंज मैरिज यानी अपने घर जैसे रीति-रिवाज वाले नए परिवार में जाना। क्योंकि यह परिवार हमारे पैरेंटस की पसंद है तो जाहिर तौर पर दोनों परिवारों का कल्चर एक जैसा होगा। सोशल और कल्चरल functions एक जैसे होंगे। यह मोनोटाॅनी हमारे फ्यूचर के लिए टाॅनिक साबित हो सकती है ! मतलब भले ही हमारी लाइफ स्टाइल बदलने वाली हो लेकिन कम से कम नए रीति-रिवाज सीखने की टेंशन तो खत्म।

8. यस ये है बड़ा advantage


arrange marriage 8

Gif source: mensxp.com

Girls के लिए अरेंज मैरिज का एक और प्लस पाॅइंट रहता है शादी की बातचीत के शुरुआती दिनों में ही ये डिसाइड हो जाता है कि फ्यूचर कैसा होगा। मतलब working girls अक्सर इस पसोपेश में रहती हैं कि पता नहीं ससुराल में जाॅब करने की आजादी होगी या नहीं ! पैरेंटस और होने वाले in-laws इस मुदृदे पर पहले ही फैसला कर लेते हैं और हम अपनी आने वाली जिंदगी के रूटीन को लेकर मानसिक तौर पर तैयार होते हैं।

9. शादी में होगा धमाल


arrange marriage 9

Gif source: emlii.com

इंडियन फैमिली में अरेंज मैरिज करने वाले बच्चों को बहुत संस्कारी माना जाता है! ;) पैरेंटस की लाडली के अरेंज मैरिज की हामी भरने के बाद खास treatment मिलने लगता है। सभी छोटी cousins के लिए हम मिसालबन जाती हैं और पैरेंटस का भरपूर प्यार हम पर बरसने लगता है। नतीजा मनचाही शाॅपिंग और ढेर से सरप्राइज। यानि शादी में होगा धमाल ही धमाल!!

10. बच्चों की जिम्मेदारी से बेफिक्र


arrange marriage 10

अरेंज मैरिज के बाद लड़के और लड़की दोनों के ही पैरेंटस अपने नाती-पोते की देखभाल के लिए हर समय तैयार रहते हैं। (Working girls के लिए सबसे बड़ा relief!!) साथ ही बच्चों को पारिवारिक और संस्कारिक माहौल मिलता है जैसा हमें मिला। हमें अपने निजी काम से जाना हो तो इनलाॅज खुशी से बच्चों की देखभाल के लिए तैयार हो जाते हैं। एक और बड़ा फायदा अगर ये चीजें अपने फेवर में न हों तो हम अपने पैरेंटस को कह सकते हैं!

Gifs: tumblr.comgiphy.com
Published on Aug 20, 2015
POPxo uses cookies to ensure you get the best experience on our website More info
Never miss a heart!

Set up push notifications so you know when you have new likes, answers, comments ... and much more!

We'll also send you the funniest, cutest things on POPxo each day!